ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

आगजनी से 3 हजार एकड़ गेहूं की फसल भस्म, किसानों पर टूटा पहाड़

बांसगांव। रविवार की दोपहर में आमी नदी के कछार क्षेत्र में लगी आग से दर्जनों गांवों के हजारों किसानों के करीब 3 हजार एकड़ के क्षेत्रफल में खेतों में खड़ी गेहूं की फसल जलकर भस्म हो गयी। दूसरी तरफ आग पर काबू पाने के लिए चार घ्ांटे बाद एक दमकल गाड़ी के साथ बांसगांव चैराहे पर पहुंचे एसपी साउथ को किसानों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। भीड़ ने चैराहे पर जाम लगाकर एसपी साउथ की गाड़ी को आगे जाने से रोक दिया।
मिली जानकारी के अनुसार आज करीब साढ़े ग्यारह बजे बांसगांव थाना क्षेत्र के ग्राम भुसवल तथा जोत गोटकी के सीवान पर खेत में भूसा बना रही मशीन से निकली चिंगारी से आग लग गयी। तेज पछुआ हवा के चलते आग ने विकराल रूप ले लिया।
ग्रामीणों ने 11.40 बजे इसकी सूचना मुकामी थाने पर देते दमकल भेजने की गुहार लगाई। दमकल की गाड़ी के मौके पर पहुंचने के पूर्व ही आग आमी नदी को लांघ्ाकर ताल अमियार क्षेत्र में पहुंच कर रौद्र रूप दिखाते तेज गति से आगे बढ़ने लगी। आगजनी की घटना की जानकारी होते ही बांसगांव कस्बे से हजारों किसान कछार क्षेत्र में पहुंच गये।
बताते हैं अपने खून और पसीने की कमाई को बर्बाद होते देख परेशानहाल किसान पुलिस तथा प्रशासन के अधिकारियों को दमकल की गाड़ियां भेजने की गुहार लगाने के लिए बार बार फोन करते रहे। लेकिन किसी ने उनका फोन उठाना मुनासिब नहीं समझा। जिससे किसानों में जबरदस्त आक्रोश व्याप्त है। आगजनी की इस घटना में राजस्व ग्राम ताल अमियार तथा आबगीर के मौजा सुअरहा, परई, मंझरिया, जमुआरी, नम्बर चार, गड़िहर, बलुआडाड़ा के अलावां लालपुर, जयंतीपुर का कछार क्षेत्र, ताल बिजरा, कसिहार, हरदिया, भष्मा, कटया आदि के हजारों किसानों की करीब 3 हजार एकड़ फसल जलकर भस्म हो गयी।

आग के तबाही मचाने के बाद पहुंचे अधिकारी

बांसगांव। आगजनी की भीषण घटना की मोबाइल फोन से दी जाने वाली किसानों की सूचना का संज्ञान लेने की जहमत न उठाने वाले अधिकारी शाम को मौके पर तब पहुंचे जब आग की तबाही का मंजर खत्म हो गया था और खेतों में पककर लहलहा रही गेहूं की फसल राख में तब्दील हो चुकी थी। करीब चार बजे फायर ब्रिगेड की एक गाड़ी के साथ एसपी साउथ अरूण कुमार सिंह पहुंचे। जिन्हे किसानों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। इसके बाद एसडीएम विनय पाण्डे, एडीएम प्रशासन चतुर्भुजी गुप्ता आगजनी से हुए क्षति का जायजा लिया।

गुस्साए किसानों ने चैराहे पर लगाया जाम

बांसगांव। आगजनी की घटना को नियंत्रित करने में प्रशासनिक अधिकारियों की उदासीनता से गुस्साए किसानों ने बांसगांव चैराहे पर घंटों जाम लगाकर खूब हो हल्ला मचाया। इस दौरान भीड़ ने एसपी साउथ की गाड़ी को भी घंटों रोके रखा। सूचना पर भारी संख्या में पुलिस के जवानों के साथ सीओ श्यामदेव भी चैराहे पर पहुंचे और भीड़ को समझाते जाम को खत्म कराने का प्रयास करते रहे। लेकिन भीड़ उन्हे अनसूना करती रही। इस दौरान खजनी, उरूवा, सिकरीगंज, बेलीपार, गगहा, गोला बांसगांव थाने की फोर्स भी बुला ली गयी। चैराहे पर जाम लगाये बैठे किसानों से एडीएम, एसडीएम, एसपी साउथ शाम करीब छः बजे मौके पर पहुंचे। लेकिन किसान जिलाधिकारी से वार्ता करने के लिए मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे। किसानों का उग्र रूप देख प्रशासन के माथे पर बल आने लगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *