ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

पुरवा जबरेला मार्ग अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा

पुरवा-उन्नाव। लगभग तीन सौ करोड़ रुपए की लागत से बनने वाला तौरा वाया पुरवा जबरेला मार्ग अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। उत्तर प्रदेश की राजनीति में शीर्ष नेतृत्व करने वाले महारथियों के क्षेत्र का यह प्रमुख मार्ग आयदिन दुर्घटनाओं का गवाह बनता है।
आज बछरावां से सरिया उतारकर वापस लौट रहा एक ट्रक पुरवा मौरावां निर्माणाधीन मार्ग पर कस्बा स्थित मझिगवां मोड़ के समीप सामने के वाहन को पास देने के चक्कर में सड़क के मध्य जलभराव वाले गहरे दलदल में धंस गया और पलटते बचा। इस दौरान मार्ग पर घण्टों यातायात प्रभावित रहा और चींटियों की भांति रेंगता रहा। इस तरह के नजारे प्रतिदिन इस मार्ग पर दर्जनों स्थानों पर देखा जा सकता है।
आपको अवगत करा दें कि बीते कुछ महीनों से क्षेत्र की सभी प्रमुख सड़कों का नजारा देखकर स्थानीय नागरिकों व राहगीरों को पसीना आ रहा है। बीते लगभग दो साल से इस निर्माणाधीन सड़क पर कुछ न कुछ कार्य कछुआ गति से विद्यमान है। किंतु निर्माण करने वाली कंपनी की अदूरदर्शिता एवं नौसिखिया पन से स्थानीय निवासी एवं राहगीर मुसीबतों का सामना कर रहे हैं। अब इस मार्ग पर दर्जनों सड़क दुघर्टनाएं हो चुकी है और लोगों ने अपनी जान गंवाई है। बस्ती में बनाए गए ऊंचे-ऊंचे नाले किसी नागरिक के भी गले नहीं उतर रहे हैं।
पुरवा विधानसभा क्षेत्र बड़े बड़े कद्दावर नेताओं का क्षेत्र है। इसके अलावा जनपद के सांसद व क्षेत्रीय विधायक भी इस मामले में विशेष रुचि लेते नहीं दिख रहे हैं। इस क्षेत्र के प्रमुख मार्गों में पुरवा सोहरामऊ मार्ग, पुरवा पाटन मार्ग, पुरवा कालूखेड़ा मार्ग, पुरवा बीघापुर मार्ग समेत कई अन्य सड़कें भी टूटी और जर्जर हैं। सबसे ज्यादा समस्या पुरवा, मंगतखेड़ा, मौरावां, कालूखेड़ा आदि स्थानों पर है, जहां जलभराव होने के कारण राहगीरों को मुसीबतें उठानी पड़ रही है। बरसात के मौसम में सबसे ज्यादा मुसीबतें हो रही है क्योंकि सड़क खोदकर कुछ स्थानों पर मिट्टी डाली गई और कुछ स्थानों पर जलभराव है। कच्ची मिट्टी के कारण दलदल बन गया है। अब देखना यह होगा कि इस क्षेत्र के राहगीरों को आखिर कब इस समस्या से निजात मिल पाएगा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *