ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

मशहूर कवयित्री ने ऑनलाइन काव्यपाठ में बिखेरा जलवा

प्रयागराज। तारांजलि फाउंडेशन नई दिल्ली द्वारा आयोजित काव्यपाठ जिसकी संस्थापक शैलजा सिंह के सौजन्य से हुए कार्यक्रम में प्रयागराज की सुविख्यात कवयित्री मधु शंखधर द्वारा ऑनलाइन लाइव काव्यपाठ में चढ़-बढ़कर हिस्सा लेते हुए अपना जलवा कायम किया गया है। माँ शारदा का वंदन के गीत से माँ सरस्वती की वंदना कर काव्यपाठ की शुरुवात की। श्रृंगार रस में डूबी ष्हारकर दिल की बाजी को, तुम्हें हम जीत जाएंगे’ तथा ‘गीतों की रसधार बनूँ मैं तुम सरगम बन छा जाओष् की प्रस्तुति को लोगों ने बहुत सराहा है।
अर्थव्यवस्था के लिए कोरोना के वर्तमान समय में मदिरालय के खुलने पर आपका कटाक्ष बना क्रूर अंगूरी पानी आज नाश का मूल को आपने बेहद संजीदगी आवाज के साथ प्रस्तुत किया। ष्देते ठंडी छाँव,वृक्ष को मत काटोष् कविता ने सभी का ध्यान पर्यावरण पर आकृष्ट करते हुए मंत्रमुग्ध कर दिया। वहीं लोगों के आग्रह पर अंत में प्रस्तुत अवधी गीत ष्सुरतिया निहार पिया बलि-बलि जाऊंष् को आपने, मनमोहक अंदाज में प्रस्तुत कर सभी श्रोताओं के हृदय को खूबसूरत गीत के रस में सराबोर कर दिया है।
कवयित्री मधु शंखधर ने गजल, गीत, मुक्तक, मनहरण घनाक्षरी छन्द व कुंडलियों द्वारा बहुत ही अनोखे अंदाज में बेहतरीन तरीके से काव्यपाठ को प्रस्तुत कर ऑनलाइन कविता में जान डालने का काम किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *