उन्नाव

जिलाधिकारी ने सघन दस्त नियन्त्रण पखवाड़ा का किया उद्घाटन

उन्नाव। जिलाधिकारी देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने जिला महिला चिकित्सालय में आयोजित सघन दस्त नियन्त्रण पखवाड़ा के अन्तर्गत आयोजित कार्यक्रम का फीता काटकर उद्घाटन किया। इस दौरान कार्यक्रम में उपस्थित हिलाओं, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को सम्बोधित करते हुये जिलाधिकारी ने कहा कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य दस्त के कारण होने वाले शिशु एंव बाल मृत्यु दर में कमी लाना है। जिलाधिकारी ने बताया कि वर्तमान में प्रदेश की बाल मृत्यु दर 47/1000 जीवित जन्म है। बाल्यावस्था में 05 वर्ष से कम आयु के बच्चों में 10 प्रतिशत मृत्यु दस्त के कारण होती है। इसका उपचार ओ0आर0एस0 एंव जिंक की गोली मात्र से किया जा सकता है। उन्होनें बताया कि दस्त रोग का मुख्य कारण दूषित पेयजल, स्वच्छता एंव शौचालय का अभाव तथा 05 वर्ष तक बच्चों का कुपोषित होना है। इसलिये स्वच्छता, साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। उन्होनें बच्चों, महिलाओं व आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को ओ0आर0एस0 पैकेट का वितरण किया। जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि सघन दस्त नियन्त्रण पखवाडा को पूरी गम्भीरता के साथ संचालित किया जायें। अभियान के बारे में लोगों को शिक्षा, बाल विकास पुष्टाहार, पंचायती राज, विकास विभाग आदि अभियान के बारे में प्रचार-प्रसार करेगें। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सघन दस्त नियन्त्रण पखवाड़ा के सम्बन्ध में बताया कि जिला चिकित्सालय, सामु0/प्रा0स्वा0केन्द्रों/प्राइवेट चिकित्सालयों में जिंक एंव ओ0आर0एस0 कार्नर स्थापित किये जायेगें। इसके साथ ही आशाओं द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में घर-घर जाकर ओ0आर0एस0 एंव जिंक गोली का वितरण करेंगे। इसके अलावा स्कूलों/आंगनबाड़ी केन्द्रों, वी0एच0एन0डी0 सत्रों, स्वास्थ्य उपकेन्द्रों व सामु0/प्रा0स्वा0केन्द्रों पर हाथ धोने का प्रदर्शन कर लोगों को स्वच्छता के बारे में जागरूक किया जायेगा। आशा द्वारा अपने क्षेत्र के 05 वर्ष तक के बच्चों की सूची तैयार की जायेगी जो पखवाड़ा के दौरान दस्त रोग से बचाव हेतु ओ0आर0एस0 घोल बनाने तथा जिंक गोली के सेवन के बारे में लोगों को जागरूक करेगी तथा  दस्त प्रभावित परिवार को ओ0आर0एस0 एंव जिंक गोली का वितरण करेगी। उद्घाटन अवसर पर डा0 ए0के0 रावत अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जिंक टैबलेट के सेवन व ओ0आर0एस0 गोल बनाने की विधि का प्रदर्शन किया तथा सेवन के बारे में जानकारी दी। उद्घाटन अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक व अधीक्षिका डा0 मेवा लाल, डा0 अन्जू दुबे अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 ए0के0 रावत, डा0 अर्जुन सिंह सारंग, जिला स्वास्थ्य षिक्षा सूचना अधिकारी लाल बहादुर यादव, हास्पिटल मैनेजर ममता श्रीवास्तव, मो0 आरिफ, डी0पी0एम0 इन्तजार अहमद, डी0सी0पी0एम0 ज्योति भूषण पाण्डेय, सुरेश गौतम, फरजान अहमद, यूनिसेफ से वकास अहमद, पल्लवी सैनी, आई0सी0डी0एस0 सुपरवाईजर उमा शुक्ला, अंकित मिश्रा सहित आंगनबाड़ी कार्यकत्री स्वास्थ्य कर्मी महिलायें व बच्चे उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *