उन्नाव

शहर में फिर चला पालिका और पुलिस प्रशासन का अतिक्रमण अभियान

उन्नाव। शहर में बढ़ते जा रहे अतिक्रमण को हटाने का अभियान सोमवार को चलाया गया। शहर के छोटा चैराहा से लेकर नहररिया बाजार के दोनों ओर अतिक्रमण अभियान नगर पालिका और पुलिस प्रशासन द्वारा चलाया गया। जिसमें सैकड़ो दुकानों पर बुलडोजर चला। अभियान शुरू होते ही दुकानों में खलबली मच गई। दुकानदार अपना सामान समेटने लगे। वहीं दुकानों के ऊपर टीन शेड लगाए दुकानदारों जेसीबी न चलने की दुआ कर रहे थे लेकिन ऐसा नहीं हुआ।अतिक्रमण कार्रवाई में सड़क के दोनों ओर जगह साफ की गई।सोमवार को सुबह छोटा चैराहा पर दुकानों के बाहर भीड़ जुटी थी। 11 बजे नगर पालिका अधिकारी और टीम सहित पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। उनके पीछे 2 जेसीबी और दो नगर पालिका के टैªक्टर सहित नगर पालिका सफाई कर्मी मौजूद रहे। जेसीबी ने नाली के ऊपर और उससे आगे तक हुए कब्जों को ढहाना शुरू कर दिया। जेसीबी ने दुकानों के शटर, लकड़ी की दुकानों, लोहे की दुकानों और शोरूम के बाहर की सजावट ढेर करनी शुरू कर दी। छोटा चैराहा से अतिक्रमण हटाने के बाद सभी जेसीबी कोतवाली गेट पहुंच गई वहां पर भी छोटा चैराहा जैसा ही हाल हुआ।नगर पालिका की ओर से चलाए गए अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान अभियान दल जेसीबी मशीन और ट्रैक्टर ट्रालियों के साथ गांधीनगर तिराहा पहुंच गया। यहां से पुलिस, प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी के बीच अभियान चला। अभियान के चलते फुटपाथ के दुकानदारों ने अपनी दुकानें खुद ही हटाते नजर आए। जहां भी नाले व फुटपाथ पर कब्जा नजर आया तो जेसीबी से तोड़वा दिया। अतिक्रमण के छोटे व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। शहर के गांधी नगर तिराहे पर लगे फलों के ठेले में रखे कैरेटों को नगर पालिका कर्मियों के द्वारा जमा कर लिया गया और जैसे-जैसे आगे बढ़ते गए वैसे-वैसे सड़क पर रखी लकड़ी की दुकानों पर जेसीबी मशीन चली। इस दौरान ठेलों और अन्य दुकानों का चालान भी किया गया। पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने चेतवानी देते हुये कहा कि दोबारा अतिक्रमण न करने की सलाह दी। अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान छोटा चैराहा से लेकर गंदा नाला तक आवागमन बाधित रहा। घंटों जाम लगने से फंसे वाहन सवार उमस से बेहाल हांफते नजर आए। सबसे खास बात यह है कि अभियान में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी शामिल रहे अतिक्रमण हटाओ दस्ते के साथ जेसीबी समेत कई वाहन चल रहे थे। छोटा चैराहा की ओर से आने वाला यातायात भी ठहर गया। लगभग एक घंटे तक जाम चला, जिसमें बसों व अन्य वाहनों में सवार यात्रियों भी पसीना-पसीना रहे। लेकिन अतिक्रमण हटवा रहे प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों ने जाम खुलवाने की जहमत नहीं उठाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *