हमीरपुर

जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने थाना दिवस पर सुनी समस्याएं

सुमेरपुर-हमीरपुर। जनपद के सुमेरपुर थाना में डीएम और एसपी ने सुमेरपुर थाना दिवस का औचक निरीक्षण कर महिलाओं के विरुद्ध अपराधों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई के दिए कड़े निर्देश दिए। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने पुलिस अधीक्षक हेमराज मीना के साथ सुमेरपुर थाना दिवस का औचक निरीक्षण करते हुए थाना दिवस पर आई शिकायतों का समय पर निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होंने शहरी व ग्रामीण भूमि विवाद के मामलों के निस्तारण के लिए भूमि विवाद निस्तारण रजिस्टर बनाने और महिलाओं के विरुद्ध अपराध पर अंकुश लगाए जाने के निर्देश दिए।
इस मौके पर डीएम ने छोटी छोटी बच्चियों व महिलाओं खासकर निर्बल वर्ग व अनुसूचित जाति की महिलाओं के साथ होने वाले दुष्कर्म तथा छेड़खानी के मामलों में संजीदगी के साथ तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कहाकि यह सुनने को न मिले कि कोई चार दिन से भटक रहा है। शोहदों के खिलाफ 15 दिन का विशेष अभियान चलाया जाए। कारकों को चिन्हित कर कड़ी कार्रवाई की जाए। लेखपालों को निर्देश देते हुए कहा कि आप लोग भी क्षेत्र में जाते हैं, यदि छोटी बच्चियों व महिलाओं के दुष्कर्म के मामले आपके संज्ञान में आते हैं तो तत्काल थाना पुलिस को सूचित करें। इस कार्य के लिए आँगनबाड़ी, एएनएम, आशा बहू, सफाई कर्मी को भी लगाया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी लोग गांवों में जाकर महिलाओं के विरुद्ध अपराध के प्रति लोगों को जागरूक करें। पेयजल संकट की समीक्षा करते हुए लेखपालों और नगर पंचायत के ईओ से पेयजल समस्या के बारे में जानकारी ली। जुलाई में सघन वृक्षारोपण किए जाने के भी निर्देश दिए। डीएम ने कहा कि एक-एक पौधे की जिम्मेदारी स्थानीय जागरूक लोगों को सौंपें और उनके नाम का पेड़ लगाइए और एक रजिस्टर बनाकर उसमें उनका नाम दर्ज कीजिए। इससे वह व्यक्ति अपने नाम पर लगाए गए पौधे को खाद पानी और सुरक्षा जरूर देगा। डीएम ने ऐसी भीषण गर्मी में प्यास से बिलबिलाते घूम रहे अन्ना पशुओं के लिए भी कुछ करने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सुमेरपुर में जाम बहुत लगता है, वह शीघ्र ही नेशनल हाइवे पीएनसी के अधिकारियों की बैठक कर फोरलेन की रिपोर्ट लेंगे। वहाँ उपस्थित लोगों ने डीएम से बाईपास निकालने की मांग की। इस पर उन्होंने कहा कि वह बैठक में इस मामले को देखेंगे। इसे लटकाए रखना जनहित में नहीं है। लेखपालों से पूछा कि लोगों को भूमि विवाद निस्तारण में कोई दिक्कत तो नहीं आती है तो लेखपालों ने बताया कि चकबन्दी विभाग ने कोई नक्शा मुहैया नहीं कराया है। राजस्व विभाग के पास कोई नक्शा नहीं है। कटे फटे नक्शों से काम चलाते हैं अथवा प्राइवेट लोगों के नक्शे से काम करते हैं। इस पर जिलाधिकारी ने नया नक्शा बनाने के निर्देश जारी किए जाने की बात कही। जिलाधिकारी ने सभी को मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए निर्देशों से अवगत कराते हुए कहा कि निकट भविष्य में मुख्यमंत्री हमीरपुर जनपद का दौरा कर सकते हैं। जानकारी देते हुए बताया कि हमीरपुर जनपद के लिए मेडिकल कालेज स्वीकृत हो गया है। इसके निर्माण के लिए हाइवे किनारे कम से कम 20 एकड़ जमीन चाहिए।
इस मौके पर नायब तहसीलदार विजय प्रताप सिंह, ईओ नीतू सिंह, पीएलवी (डिस्ट्रिक्ट लीगल सर्विस अथॉरिटी) गणेश सिंह, थानाध्यक्ष गिरेंद्रपाल सिंह, कानूनगो व क्षेत्र के लेखपाल मौजूद रहे। थाना दिवस में राजस्व विभाग की चार शिकायतें आयीं जिसमें मौके पर एक का भी निस्तारण नहीं हो सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *