उन्नाव

सम्पूर्ण समाधान दिवस में 12 प्रार्थना पत्रों का मौके पर हुआ निस्तारण

उन्नाव। सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन तहसील पुरवा में जिलाधिकारी देवेन्द्र कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। सम्पूर्ण समाधान दिवस में चिकित्सा, स्वास्थ्य, पुष्टाहार, समाज कल्याण, लोक निर्माण विभाग, चकबंदी, स्वच्छ पेयजल, राजस्व, पुलिस, सिचांई, वृद्धावस्था, विकलांग, शिक्षा, उद्यान, कृषि, मत्स्य, प्राथमिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, राशन वितरण, विद्युत, लघु सिंचाई, रेशम, पुष्टाहार आदि विभागों से सम्बंधित कुल 164 प्रार्थना पत्र आये। जिनमें से 12 प्रार्थना पत्रों का मौके पर निस्तारण किया गया। श्रीमती सरोज कुमारी, पत्नी अमृत लाल, भदनांग परगना तहसील पुरवा द्वारा कम्प्यूटराइज्ड खतौनी मांगे जाने का अनुरोध करने पर मौके पर जिलाधिकारी के निर्देश पर उसे कम्प्यूटराइज्ड खतौनी प्रदान की गई। जिलाधिकारी देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने कहा कि सम्पूर्ण समाधान दिवस पर आने वाले प्रार्थना पत्रों को गुणवत्तापूर्ण एवं प्रभावी निस्तारण व शिकायतों का प्रभावी अनुश्रवण किया जाये। उन्होंने कहा कि सभी प्रार्थना पत्रों का निस्तारण एक सप्ताह के अन्दर किया जाय एवं सम्पूर्ण समाधान दिवस में उपस्थित सभी अधिकारी प्रार्थना पत्रों की गुणवत्तापूर्वक निस्तारण की कार्यवाही सुनिश्चित करें। ब्लाक एवं तहसील से आये हुए प्रार्थना पत्रों का निस्तारण तत्काल किया जाए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आसरा योजना व प्रधानमंत्राी आवास योजना में गुणवत्ता होनी चाहिये। हर जरूरत मंद लाभार्थी को आवास मिले यही शासन की मंशा है। मुख्य विकास अधिकारी प्रेम रंजन सिंह ने जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देशित करते हुये कहा कि स्कूलों में विद्यार्थियों के यूनिफार्म, बैग आदि प्रदान किये जाते हैं, उन्हें बाजार से न खरीद कर समूह की महिलाओं से खरीदा जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि रिबोर की समस्या हल करने एवं आगे के लिए शिकायते न हों इस पर अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि इस भीषण गर्मी में कोई भी नल खराब नहीं होने चाहिये। जनपद के सभी नलकूपों की रिबोरिंग तीन दिन के भीतर होनी चाहिये, सभी पोखरों व तालाबों में पानी सम्बन्धित अधिकारी उपलब्ध करायें ताकि मवेशियों को पानी सुलभ हो सके। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी सम्पूर्ण समाधान दिवस में आ रही शिकायतों का निस्तारण कर एवं उसकी जानकारी मेरे समक्ष अनुश्रवण हेतु प्रस्तुत करें। शिकायतों के निस्तारण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान दिया जाए। सभी अधिकारी शिकायतों का निस्तारण समय सीमा में करें। अन्यथा की दशा में सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि अधिकारी जन सामान्य से सीधे सम्पर्क करें जिससे आम जन मानस को कोई दुविधा न हो। उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है कि जनता की समस्याओं का निराकरण केवल सम्पूर्ण समाधान दिवस में ही हों बल्कि गम्भीर मामलों में अधिकारी मौके पर पहुंच कर समस्याओं का प्रभावी निस्तारण सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण समाधान दिवस शासन की शीर्ष प्राथमिकताओं में है। सभी अधिकारी शासनादेश का कठोरता से अनुपालन करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने समस्त लेखपाल एवं कानूनगों को कडे़ निर्देशित करते हुये कहा कि लाभार्थीपरक योजनाओं पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है एवं उन्होंने यह भी कहा कि चकरोड पर कब्जे की और पट्टे पर कब्जे की शिकायत नहीं आनी चाहिये। तहसील दिवस में एक विकलांग को जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी ने ट्राई साइकिल प्रदान की।विधायक पुरवा, अनिल सिंह, प्रशासनिक अधिकारियों में पुलिस अधीक्षक माधव प्रसाद वर्मा, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 लालता प्रसाद, उपजिलाधिकारी पुरवा, तहसीलदार पुरवा ने शिकायतों के निस्तारण में सहयोग किया। इस अवसर पर सम्बंधित विभागों के अधिकारी/कर्मचारी एवं फरियादी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *