प्रयागराज

जलशक्ति अभियान की बैठक में केन्द्रीय संयुक्त सचिव ने दिए निर्देश


प्रयागराज। भारत सरकार के संयुक्त सचिव सुरजीत बनर्जी एवं जिलाधिकारी प्रयागराज भानुचंद्र गोस्वामी की अध्यक्षता में जलशक्ति अभियान की बैठक की गयी, जिसमें प्रयागराज विकास प्राधिकरण के वीसी टी0के0 शिबू, मुख्य विकास अधिकारी अरविंद सिंह, डी0डी0ओ श्री पी0के0 सिंह, पी0डी0डी0आर0डी0ए0 के0के0 सिंह सहित चयनित किये गये 5 ब्लाकों के खण्ड विकास अधिकारी सहित सम्बन्धित समस्त अधिकारीगण मौजूद थे। चयनित किये गये ब्लाकों में चाका, बहादुरपुर, बहरिया, प्रतापपुर, धनूपुर है।जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान कार्ययोजना तैयार किया गया, जिसमें शहरी क्षेत्रों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के तहत जितने सरकारी भवन है, जैसे पंचायत भवन, आंगनवाड़ी केन्द्र के अलावा जो 5 ब्लाकों का चयन किया गया है, उसमें जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देशित किया कि जो भी इण्टरमीडिएट कालेज है, उनके प्रबन्धकों की एक कार्यशाला का आयोजन करे तथा उनको इसकी उपयोगिता के बारे में विस्तृत जानकारी दे। इसी क्रम में बेसिक शिक्षा अधिकारी को भी बताया गया कि जो भी प्राइवेट स्कूल है, उनको चिन्हाॅकन कर उसमें रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगवाये जाय तथा जो ब्लाक तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र है तहसील इत्यादि में रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लागू किया जाये। यह कार्यक्रम 01 जुलाई से 15 सितम्बर तक पहला अभियान की शुरूआत की गयी है तथा ये अभियान अनवरत चलता रहेगा। जिलाधिकारी ने तलाबों के बारे में जानकारी ली और बताया कि यथाशीघ्र 02 दिन के अन्दर चिन्हाॅकन कर कार्य प्रारम्भ कर दिया जाये और उन्होंने बताया कि 500 से अधिक तलाबों में पानी भरने के साथ-साथ उसका फोटोग्राफ्स जो पहले था और जो कार्य बाद में किया गया उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने डी0सी0 मनरेगा को निर्देशित किया कि प्रत्येक राजस्व ग्राम में ऐसे जगहों को चिन्हित कर लीजिए जो सीमान्त एवं लघु सीमान्त क्षेत्रों के किसान आते है। उन पर 01 मीटर की मेढ़ बन्धी बनाकर उस पर वृक्षारोपण का कार्य कराना है। जिलाधिकारी ने कृषि अधिकारी को निर्देशित किया कि उन खेतों में हाइबिड्र धान की रोपाई करायी जाये तथा प्रत्येक ग्राम पंचायतों में दो हैण्ड पम्प को मार्डन शो-फीट बनाना है जहां पर भी हैण्डपम्पों की शो-फीट बनेगा वहां पर होर्डिंग्स आदि लगाने के निर्देश भी दिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *