हमीरपुर

ब्रिज में पानी भरने से आक्रोशित छात्रों ने काटा हंगामा

मौदहा हमीरपुर। रेल विभाग ने मुख्य मार्गो पर अण्डर ब्रिज बनवाये जाने के बावजूद उनमें पानी निकासी के उचित प्रबन्ध न होने से एक ही बरसात में  पानी भर गया और सभी मार्ग अवरूद्व हो गये। इससे आक्रोशित सैकड़ों छात्र छात्राओं और ग्रामीणों ने कानपुर बांदा रेल मार्ग मे पढोरी क्रासिंग के निकट रेलवे ट्रैक पर पत्थर रखकर मार्ग पूरी तरह अवरूद्व कर दिया । जिससे खजुराहो वाया महोबा बांदा व कानुपर जाने वाली पैसेन्जर 54161 लगभग एक घंटा इस जाम में फंसकर रूकना पड़ा। बाद में पुलिस व उपजिलाधिकारी के समझाने पर जाम हट सका और ट्रेन रवाना की गयी। रेल विभाग ने इस क्षेत्र के आधा दर्जन ग्रामीण क्षेत्रों के मुख्य मार्गो के रेलवे कं्रासिंगों को बन्द कर अण्डर ब्रिज से आवागमन संचालित कराया था। जिनमें तिन्दूही अरतरा व पढारी करहिया मार्गो में भारी जलभराव से आवागमन

प्रभावित हो गया। सबसे अधिक परेशानी पढोरी क्रासिंग के मुख्य मार्ग में आयी।

इस मार्ग से यहां के चैबीसी क्षेत्र के सिसोलर भुलसी पढोरी लेवा पासुन खैर  आदि गांव को आवागमन ठप्प होने से स्कूल जाने वाले छात्र छात्रायंे सहित आवश्यक सेवायंे भी प्रभावित हो गयी। वाहनों का  आना जाना भी बन्द हो गया। परेशान लोगों ने इस सम्बन्ध मंे स्टेशन अधीक्षक सहित तमाम अधिकारियों को ज्ञापन भी दिये किन्तु जब इस पर भी कोई सुनवाई नहीं हुयी तो आज सुबह खजुराहो से कानपुर जाने वाले ट्रेन के समय छात्र छात्राओ ने अन्य ग्रामीणों के सहयोग से रेलवे ट्रैक पर जाम लगा दिया। जिससे सुबह खजुराहो वाया महोबा जाने वाली पैसेन्जर लगभग एक घण्टा जाम मे फंसी रही। जिसे मौके पर पहुंचे उपजिलाधिकारी अजीत परेश ने समझा बुझाकर जाम हटवाया। इस दौरान छात्र छात्राओ ने जमकर हंगामा काटा और इसी बीच वह स्टेशन पहुंच गये जहां उपजिलाधिकारी को ज्ञापन दिया। ज्ञापन मे कहा गया है कि उक्त मार्गो को जिन्हें अण्डर ब्रिज बनाने के बाद बन्द कर दिया गया था। उन्हें भारी बरसात के समय खोला जाये जिससे उनकी पढाई लिखाई व आवश्यक कार्यो मे बाधा न पड सके।

उपजिलाधिकारी ने बताया कि छात्र छात्राओ व ग्रामीणों की इस मांग पर पहले ही जिलाधिकारी के माध्यम से रेल अधिकारियों को भेजा जा चुका है और वास्तव में यह एक बड़ी समस्या है। उधर इसी बीच रेलवे ने जेसीबी मंगवाकर पढोरी मार्ग रेलवे अण्डर ब्रिज के इस कीचड़ की सफाई करवाना शुरू कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *