उन्नाव

मांग पर हम सीबीआई को सौंप देगें जांच-डीजीपी

जेल में बन्द पीड़ित के चाचा ने लिखाई एफआईआर

लखनऊ/उन्नाव। उन्नाव में दुष्कर्म की शिकार युवती के कल रायबरेली में सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल होने के बाद भाजपा विधायक एक बार फिर से चर्चा में हैं। इस दुर्घटना को पीड़िता की हत्या का प्रयास भी बताया जा रहा है। दुष्कर्म पीड़िता का लखनऊ की किंग जॉर्ज मेडिकल कालेज में इलाज चल रहा है। उसकी हालत खतरे में हैं।दुष्कर्म पीड़िता के सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल होने के मामले में उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि जांच से पता चलता है कि यह पूरी तरह से एक ट्रक के कारण दुर्घटना थी। ट्रक ड्राइवर और मालिक को गिरफ्तार कर लिया गया हैं। उनसे पूछताछ जारी है। हम निष्पक्ष जांच कर रहे हैं। इसके बाद भी यदि पीड़ित परिवार मामले की सीबीआई जांच की मांग करता है, तो हम मामले को भी सीबीआई को सौंप देंगे। लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कालेज में पीड़िता के साथ ही उनके वकील को कल गंभीर रूप से भर्ती कराया गया था। जहां पर दोनों को लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। इनकी हालत नाजुक बताई जा रही है। डॉक्टरों का कहना है कि पीड़िता की कई हड्डियां टूट गई हैं। उनके सिर में चोट आई है। बहुचर्चित उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता कांड की पीड़िता और वकील की हालात गंभीर बनी हुई है।
इस दुर्घटना पर लखनऊ जोन के एडीजी राजीव कृष्णा ने कहा कि डॉक्टरों ने बताया कि सड़क दुर्घटना में घायल हुई पीड़िता और वकील को लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर डाल दिया गया है। पीड़िता की कई हड्डियां टूट गई हैं। उनके सिर में चोट आईं है। एडीजी राजीव कृष्णन ने बताया कि पीड़िता की कार को ठोकर मारने वाले ट्रक को जब्त कर लिया गया है। ड्राइवर तथा मालिक को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। एडीजी राजीव कृष्णा ने कहा कि जिस ट्रक से कार की भिडंत हुई उसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। ट्रक का नंबर प्लेट ब्लैक इंक से पेंट किया गया था। ट्रक और कार की फोरेंसिक जांच की जाएगी।उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक, पीड़ित परिवार ने खुद ही सुरक्षाकर्मी को साथ न आने के लिए कहा था, क्योंकि कार में जगह कम थी। यह भी जांच का मामला है। इसकी जांच की जाएगी। पीड़िता रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से रविवार को चाची, गांव की एक महिला तथा वकील के साथ मिलने जा रही थी। इसी दौरान इनकी कार को ट्रक ने टक्कर मार दी।
जानकारी के अनुसार जेल में बन्द पीड़िता के चाचा महेश सिंह की तहरीर पर हत्या के मामले में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर सहित दस लोगों व 15-20 अन्य लोगों पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *