उन्नाव

जिले में गणेश चतुर्थी की तैयारियां तेज

विशाल प्रजापति
  • उन्नाव । गणेश चतुर्थी पर्व को लेकर जिले में तैयारियां तेज हो गई हैं। विभिन्न क्षेत्रों से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में पूजा पंडाल के निर्माण का कार्य शुरू हो गया है तो भगवान गणेश की मूर्ति को अंतिम रूप देने के लिए कारीगरों के हाथ तेजी से चलने लगे हैं। पर्व के उल्लास में कमी न रहे, इसके लिए लोगों ने बाजारों से खरीदारी भी शुरू कर दी है।बीते कुछ वर्षों से जिले में गणेश चतुर्थी पर्व के मौके पर पूजा पंडाल में भगवान श्रीगणेश की मूर्ति स्थापित कर विशेष पूजा-अर्चना क्रा चलन तेजी से बढ़ा है। पूर्व में जहां सिर्फ शहरी क्षेत्रों में इक्का दुक्का स्थानों पर ही पूजा पण्डाल नजर आते थे, वहीं अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी इसका प्रचलन बढ़ गया है। दो सितंबर को गणेश चतुर्थी से पहले 29 अगस्त से जिले के विभिन्न क्षेत्रों में पूजा पंडालों में मूर्ति स्थापना कर विशेष पूजा-अर्चना का कार्य शुरू हो जाएगा। पर्व के उल्लास में कमी न रह जाए, इसे लेकर जिले में तैयारियों ने जोर पकड़ लिया है। विभिन्न क्षेत्रों से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में पूजा पंडालों के निर्माण का कार्य शुरू हो गया है उन्नाव जिले के , बांगरमऊ, , सब्जी मंडी, गांधी नगर ,आदि क्षेत्रों में पूजा पंडालों का निर्माण शुरू कर दिया गया है। उधर, मूर्तियों को अंतिम रूप देने के लिए कारीगरों के हाथ भी तेजी से चलने लगे हैं।
  • मूर्ति निर्माण में लगे उन्नाव के शाहगंज मुहल्ला निवासी राम शंकर प्रजापति व उनके पुत्र प्रखर भास्कर ने बताया कि मूर्ति निर्माण में लगने वाली सामग्रियों के दाम में तो वृद्धि हो रही है, लेकिन मूर्ति के दाम में विशेष वृद्धि नहीं हो रही। कहा कि भगवान गणेश की मूर्ति इस बार 800 रुपए से 7000 हजार रुपये तक बिक रही है। कहा कि अभी तक 10 से 12 मूर्ति की बुकिंग हुई है। इसमें अभी और वृद्धि होने की संभावना है। राम शंकर प्रजापति व प्रखर भास्कर ने कहा कि उनका परिवार लंबे समय से मूर्तियों के निर्माण में लगा है। दुर्गापूजा पर्व पर अधिक मूर्तियों की बिक्री होती है। इसके अलावा दीपावली में लक्ष्मी गणेश व गणेश चतुर्थी पर भगवान गणेश की मूर्ति की भी बिक्री होती है। कहा कि अब मूर्ति कारोबार में अधिक लाभ नहीं है। दरअसल निर्माण सामग्री के दाम में लगातार वृद्धि हो रही है, लेकिन उसके अनुसार मूर्ति के दाम में वृद्धि नहीं हो रही। कहा कि गणेश चतुर्थी पर्व के लिए आधा दर्जन मूर्तियों की बुकिंग हुई है। 800 रुपये से 7000 हजार रुपये में मूर्तियों की बिक्री हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *