हमीरपुर

परिजनों ने नहीं किया किशोरी का अंतिम संस्कार

मामले को तूल पकड़ता देख डीआईजी मौके पर

हमीरपुर। सुमेरपुर थाना क्षेत्र में 25 तारीख को एक 17 वर्षीय किशोरी का शव रेलवे ट्रैक पर बरामद हुआ था। जिसके बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया था। परिजनों ने शव मिलने के बाद अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया और सड़क जाम कर हंगामा शुरू कर दिया। उनकी मांग है कि मुख्यमंत्री यहां पर आए, और हमें न्याय दिलाएं।मृतका के परिजनों का आरोप है कि पुत्री के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या हुई है जबकि पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार का कहना है कि अभी तक डॉक्टरी रिपोर्ट में ऐसे कोई तत्व सामने नहीं आए हैं, फिर भी पुलिस पूरी तरह से जांच में लगी हुई है। जो भी तथ्य सामने आएंगे, कार्रवाई की जाएगी।
वहीं मृतका के परिजनों का आरोप है कि 5 बजे पुत्री घर से बाहर गई और 7 बजे रेलवे ट्रैक पर उसका शव मिला। जिससे अनहोनी की पूरी आशंका है पुलिस परिजनों को समझाने में लगी है तो वहीं परिजन ग्रामीणों के साथ हंगामा काटते हुए दोबारा पोस्टमार्टम कराए जाने की मांग कर रही रहे हैं।
मामले को तूल पकड़ता देख डीआईजी सुमेरपुर थाने में परिजनों एवं मीडिया के साथ बैठकर बात की जिसमें उन्होंने बताया कि हमीरपुर जनपद के भरुआ सुमेरपुर में पन्धरी गांव की छात्रा की मौत की खबर पाकर तीसरे दिन चित्रकूट धाम मंडल परिक्षेत्र के डीआईजी दीपक कुमार शाम 4 बजे थाने आए और पहुंचकर पुलिस अफसरों के साथ वार्ता करके जानकारी हासिल की है। बाद में पत्रकारों से कहा कि घटना की निष्पक्ष जांच कराई जा रही है।
इस मौके पर थाने में जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी, पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार, सीओ सदर अनुराग सिंह, थानाध्यक्ष श्री प्रकाश यादव के साथ भारी पुलिस बल मौजूद रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *