उन्नाव

पुस्तकालय का शिलान्यास विधानसभा अध्यक्ष ने किया

निराला की तपोभूमि में बनने वाले स्मृति भवन स्मरणीय-सीडीओ

उन्नाव। महाकवि निराला की कर्मस्थली गढ़ाकोला में उनकी स्मृति में प्रदेश के संस्कृति विभाग द्वारा निर्मित होने वाले 14 करोड़ रुपए की लागत से पुस्तकालय व संग्रहालय का शिलान्यास गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने भूमि पूजन के साथ किया। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि महाकवि निराला से देश-विदेश में पहचान बनी है उनकी कई कृतियों का अनुवाद विदेशों में किया गया है। वह देश विदेश में हम सब की पहचान हैं। निराला अनुभूति के कवि हैं। उन्होंने संसार व समाज में जो देखा व भोगा उसे कविता के रूप में व्यक्त किया ।
प्रदेश के मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त करते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा गढ़ाकोला कविता का उदगम है और महाकवि निराला पर हम सब को गर्व है। मुख्यमंत्री ने उनकी स्मृति में विशालकाय स्मारक देकर जनपद के लिए ऐतिहासिक कार्य किया है। मैं केवल नियति का उपकरण हूं। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि आने वाली सदी में ज्ञान का विस्फोट होने वाला है। अन्य देशों में कवियों पर लोग गर्व करते हैं और उन्हें याद करने की परंपरा में आगे रहते हैं। यह परंपरा भावी पीढ़ी के लिए उर्जा व प्रेरणास्पद होती है। भारत में कविता व साहित्य धर्म संहिता है जबकि विदेशों में केवल कविता है। निराला की राम की शक्ति पूजा धर्म संहिता से जुड़ी हुई अनूठी कृति है ।
उन्होंने उम्मीद की के भव्य स्मारक उच्च कोटि का समय सीमा के अंदर निर्मित होगा। मुख्य विकास अधिकारी डॉ राजेश प्रजापति ने निराला की तपोभूमि में बनने वाले स्मृति भवन को स्मरणीय बताया। कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद के संयुक्त निदेशक उमेश चंद्र सिंह ने कहा कि भवन निर्माण में स्तरीय व समय सीमा के अंतर्गत बनेगा। यह साहित्य व समाज के लिए ऊर्जा व प्रेरणा का काम करेगा। कार्यक्रम का संचालन साहित्यकार रामेश्वर द्विवेदी प्रलयंकर ने किया। कार्यक्रम में आवास विकास परिषद के निदेशक एस पी एन सिंह, परियोजना निदेशक एच के बाधवा, आर्किटेक्चर सुरेश चंद्रा, ठेकेदार नितिन कोहली, विधानसभा अध्यक्ष के ओएसडी पंकज मिश्रा, जिला भाजपा उपाध्यक्ष संजय शुक्ला, डीपीआरओ राजेंद्र यादव, कल्लू तिवारी, प्रभात सिंह एडवोकेट, अतुल पटेल ,गुड्डू रावत, प्रधान पति नौशाद, रमेश चंद तिवारी, गंगाधर पटेल, मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *