प्रयागराज

माघ मेला क्षेत्र में समाजवादी चिंतन शिविर का हुआ उद्घाटन

प्रयागराज। माघ मेला क्षेत्र में स्थित समाजवादी चिंतन शिविर का आज उद्घाटन बतौर मुख्य अतिथि पूर्व केंद्रीय मंत्री रामपूजन पटेल ने फीता काटकर किया। इस अवसर “धर्म और समाजवाद “विषय पर आयोजित गोष्ठी में रामपूजन पटेल ने कहा कि वर्तमान में समाज एक विषम परिस्थिति से गुजर रहा है । एक तरफ धर्म में पाखण्ड, राजनीति में माफिया और व्यापार में भ्रष्टाचार आच्छादित होता जा रहा है वही दूसरी ओर किसानों, नौजवानों, महिलाओं की समस्याओं को लेकर आए दिन जनाक्रोश फैल रहा है । इसका हल समाजवादी विचारधारा से ही संभव है। अध्यक्षता कर रहे केंद्रीय विश्वविद्यालय इलाहाबाद में प्रोफेसर डॉ जे.एन. पाल ने कहा कि मानवता का कल्याण ही धर्म का कर्तव्य है स समाजवादी विचारधारा भी यही कहती है स इसलिए समाज के अंतिम व्यक्ति के चेहरे पर मुस्कान हो ऐसी स्थिति में समाजवाद के व्यापकता का हर संभव प्रयास किया जाना चाहिए। केन्द्रीय विश्वविद्यालय में प्रोफेसर डॉ पंकज कुमार ने कहा कि भारतीय परिप्रेक्ष्य में धर्म की परिभाषा कर्तव्य पर अधारित है स समाजवाद की स्थापना ही असली धर्म है।
शिविर के आयोजक अवधेश आनन्द ने कहा कि गाँधी जी ने गीता के अना शक्ति भाव के सिद्धांत की व्याख्या किया, वहीं डॉ राममनोहर लोहिया जी ने राजनीति को मर्यादित और आदर्शवादी स्वरूप दिया स उन्होंने दीर्घ कालीन राजनीति को ही धर्म माना था । कार्यक्रम में प्रो. हर्ष कुमार, पंधारी यादव, पूर्व सांसद धर्म राज पटेल, हेमंत तून्नू, दूधनाथ पटेल, योगेश यादव, डॉ मान सिंह यादव, धनी लाल, दान बहादुर मधुर, , संतलाल वर्मा, संदीप विश्वकर्मा, योगेश पाल, बेला सिंह, महेंद्र निषाद, रामलखन यादव, आदि वक्ताओं ने कहा कि कुछ ताकतें धर्म के आधार पर ही राजनीति करके समाज में दरार पैदा करने की कोशिश कर रहीं हैं जिनके मंसूबे कभी सफल नहीं होंगे। उद्घाटन समारोह में ट्रेड यूनियन के नेता विश्वेश्वर उपाध्याय, सुरेश रैना, भागीरथी यादव, युवराज सिंह, जय सिंह, जगदीश यादव, कृष्ण राज यादव, राकेश, प्रभात यादव, अभिनव प्रकाश, शैलेन्द्र पाल, राजपति, वीरेंद्र सिंह, आदि मौजूद रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *