उन्नाव

जनपद नोडल अधिकारी ने किया आकस्मिक निरीक्षण

उन्नाव। श्रीमती बीना कुमारी मीना, प्रमुख सचिव स्टाम्प एवं पंजीयन, महिला एवं बाल विकास एवं नोडल अधिकारी, के भ्रमण कार्यक्रम एवं निरीक्षण कार्यक्रम के तहत हसनगंज तहसील के ब्लाॅक मियागंज के विकास खण्ड कार्यालय में विकास योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान सरकार की प्राथमिकता वाले जनकल्याणकारी योजनाओं की बिन्दुवार समीक्षा की, जिसमें राष्टीय ग्रामीण आजीविका मिशन, प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि असोहा, सफीपुर, बीघापुर, फतेहपुर चैरासी, हसनगंज, नवाबगंज, हिलौली की विकास योजनाओे की प्रगति कम पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि एक सप्ताह में लक्ष्य की पूर्ति की जाये तथा थर्डपार्टी से सर्वे करा कर जो लाभार्थी इस योजना से वंचित हैं उन्हे लाभ दिलाया जाये। औराई गौशाला का निरीक्षण के दौरान उन्हें बताया गया कि इसमें कुल 56 गोवंश हैं, जिसमें आवारा घुमन्तु पशु अधिक हैं इसपर उन्होंने कहा कि आवारा छोड़े गये पशु मालिकों पर एफ आई आर दर्ज करायी जाये ताकि पशुओं को इस तरह से न छोडें। गदनखेडा स्थिति बृहद गौशाला का निरीक्षण किया जिसमें 400 गाय रखने की क्षमता बतायी गयी। गोवंशों ं की व्यवस्था को देखते हुए उन्होंने कहा कि यहां पर गोबर गैस प्लान्ट/कम्पोस्ट खाद की व्यवस्था करायी जाये और गोबर गैस प्लान्ट से विद्युत की व्यवस्था करायी जा सकती है।

निरीक्षण के उपरान्त नोडल अधिकारी ने विकास भवन सभागार में उत्तर प्रदेश शासन विकास प्राथमिक्ता कार्यक्रमों से सम्बन्धित 18 बिन्दुओं की प्रगति माह दिसम्बर 2019 के लक्ष्य के सापेक्ष पूर्ति पर विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने जिलाधिकारी से कहा कि बेसिक शिक्षा की गुणवत्ता संतोष जनक नहीं है, जिसपर विभिन्न विभागों के अधिकारियों को निरीक्षण कर गुणवत्ता में सुधार लाये जाने पर जोर दिया। बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक विक्रान्त वीर, मुख्य विकास अधिकारी डा0 राजेश कुमार प्रजापति, अपर जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *