प्रयागराज

अच्छे कार्य की प्रेरणा अंतरात्मा से मिलती है-शंकराचार्य

प्रयागराज। प्रेरणा अपनी अंतरात्मा से मिलती है, यदि आप स्वयं समाज के लिए कुछ करना नहीं चाहते तो इस दुनिया में कोई भी आपको प्रेरणा नहीं दे सकता। यदि आप मानवता के लिए कुछ अच्छा करना चाहते हैं तो आप के आस पास ही हर छोटी चीज आपको प्रेरित प्रोत्साहित करेगी।
उक्त विचार माघ मेला शिविर सेक्टर 1 महावीर चैराहा संगम प्रयागराज में आयोजित त्रिवेणी रत्न सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि आद्या शंकराचार्य त्रिकाल भवंता सरस्वती जी महाराज पीठाधीश्वर गायत्री त्रिवेणी प्रयाग पीठ एवं प्रमुख परी अखाड़ा ने समारोह में व्यक्त करते हुए कही। भवंता ने आगे कहा कि लोग जो कुछ भी कर रहे हैं उससे आप अपने विचार जोड़कर उनका क्रिया मन कर सकते हैं कुछ हटकर बड़ा कर सकते हैं मुझे सरदार पतविंदर सिंह को त्रिवेणी रत्न से सम्मानित करते हुए गर्व हो रहा है ऐसे ही समाजसेवी सरदार पतविंदर सिंह से प्रेरणा लेते रहिए और लोगों को प्रेरित करते रहिए। उन्होंने कहाकि कहा कि गांव के युवाओं को खेत. खलियान आकर्षित नहीं कर पा रहा है और वह शहरों की चकाचैंध के पीछे गांव से पलायन कर रहे हैं जो चिंता का विषय है।
पतविंदर सिंह ने अपने संबोधन में कहा कहा कि यह सम्मान पूरे यमुनापार के नौजवानों का है मैंने भी किसी की प्रेरणा से ही समाज के लिए आम आदमी के लिए कुछ करने की ठानी है जब कोई व्यक्ति समाज के लिए निरंतर बेहतर काम करता है तो आसपास के लोग अपने आप ही जुड़ते चलते जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *