जिला

गोरखनाथ मंदिर में हुआ शोकसभा का आयोजन

दस अंगुलियां प्रतिनिधि

गोरखपुर। गोरखनाथ मन्दिर, गोरखपुर में गोरक्षपीठाधीश्वर महन्त योगी आदित्यनाथ महाराज के पूज्य पिता आनन्द सिंह बिष्ट के लम्बी बीमारी के बाद एम्स, नई दिल्ली में निधन होने पर गोरखनाथ मन्दिर परिवार द्वारा एक शोक सभा का आयोजन किया गया। जिसमें कार्यालय सचिव द्वारिका तिवारी ने शोक संदेश पढ़कर उपस्थित सभी नाथ सम्प्रदाय के योगी, साधु, सन्त, धर्माचार्य एवं कर्मचारियों को सुनाया और दो मिनट का मौन रखा गया।
द्वारिका तिवारी ने बताया कि 1993 में पूज्य महाराज के पिता गोरखनाथ मन्दिर पधारे थे। वे एक धैर्यवान, सरल एवं मृदुभाषी तथा स्पष्टवादी स्वभाव के थे। महाराज जी के बारें में जब हम लोगों ने पूछा तो वे निर्भिकता के साथ यह कहे कि हमारे पूरे परिवार का यह सौभाग्य है कि गोरक्षपीठ, गोरखनाथ मन्दिर, गोरखपुर में कार्य करने का अवसर मिल रहा है। भगवान गोरखनाथ से वे प्रार्थना किये कि वे अपने इस महान संकल्प में सन्यासी के रूप में सफल हो। यद्यपि वे कई महीनों से बीमार चल रहे थे। हम लोग बराबर उनके स्वास्थ्य के बारें में जानकारी लेते रहे। एकाएक टेलीफोन द्वारा ज्ञात हुआ कि उनका निधन हो गया है यह जानकर मन्दिर परिवार स्तब्ध रह गया। महायोगी गोरखनाथ से मन्दिर परिवार यह प्रार्थना करता है कि उनके परिवार को इस महान दुःख की घड़ी में इस महान दुःख को सहन करने की शक्ति दें तथा उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *