उन्नाव

गैर प्रान्तों से श्रमिकों के आने पर नये अस्थायी कोरंटाइन कैम्प

शेल्टर होम में सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित की जाये–जिलाधिकारी

सीडीओ नोडल अधिकारी करेगें निगरानी

उन्नाव। जिलाधिकारी लाॅकडाउन में जनपद स्तर पर प्रत्येक दिन आम जन मानस को सुविधायें उपलब्ध कराये जाने एवं किये गये कार्यो की हकीकत परखने एवं सुधार करने के उद्देश्य से 11 समितियों के अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें कोरोना वायरस से बचाव एवं आम जन के स्वास्थ्य सम्बन्धित आदि पर चर्चा की गई।
कोविड-19 के दृष्टिगत जनपद में अन्य प्रान्तों से कामगार श्रमिको, मजदूरों के आगमन पर जनपद में नये अस्थायी आश्रय स्थल/कोरंटाइन कैम्प स्थापित करने व कम्यूनिटी किचन तथा कन्ट्रोल रूम की व्यवस्था को प्रभावी बनाये जाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार विकास भवन में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दियें।
जिलाधिकारी ने नये अस्थायी आश्रय स्थल/कोरंटाइन कैम्प स्थापित करने व कम्यूनिटी किचन तथा कन्ट्रोल रूम की व्यवस्था को प्रभावी बनाये जाने के उद्देश्य से समन्वय स्थापित करने एवं उनके रूकने की समस्त व्यवस्थायें कराने के उद्देश्य से राजेश कुमार प्रजापति मुख्य विकास अधिकारी उन्नाव को नोडल अधिकारी नामित किया है। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रदेश के बाहर रह रहे प्रवासी श्रमिकध्व्यक्ति बडी संख्या में अपने घर आने की प्रबल सभांवना के दृष्टिगत जनपद में अस्थापित आश्रय स्थलों में 14 दिन तक के लिये क्वारंटाइन किया जाना अनिवार्य है।
जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में न्यूनतम 15 हजार व्यक्त्यिों को ठहराने की व्यवस्था करायी जाने के उद्देश्य से तहसील एवं ब्लाॅक वार आश्रय स्थल, क्वारंटाइन कैम्प की व्यवस्था करायी जाने को लेकर अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दी गई है। जनपद के महात्मा गांधी इन्टर काॅलेज सफीपुर, इन्द्ररा गांधी राजकीय महाविद्यालय बाॅगरमऊ, माॅ वैष्णो गेस्ट हाउस मरहाला चैराहा गंगाघाट, श्यामलाल इन्टर काॅलेज नवाब गंज, हीरा गार्डेन गेस्ट हाउस उन्नाव, यूनिक रिसार्ट पूरन नगर उन्नाव को आस्थायी आश्रय स्थल बनाये गये है। सम्बन्धित अधिकारी स्वास्थ्य-परीक्षण टीम, किचन की व्यवस्था, जलापूर्ति, विद्युत, सुरक्षा तथा परिसर व शौचालय की साफ-सफाईध्हाऊस कीपिंगध्सैनिटाइजेशन व्यवस्था, सोशल डिस्टैसिंग के साथ-साथ श्रमिको की सुविधा के लिये श्रम विभाग के कर्मचारियों द्वारा उसी अस्थायी आश्रय स्थलध्क्वारंटाइन कैम्प पर आये हुये श्रमिको का पंजीकरण किया जायेगा तथा उनके खाते में एक-एक हजार रूपये की धनराशि भेजे जाने की व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने ने बताया कि शासन द्वारा जारी शासनादेश के अनुसार तैनात अधिकारियों के द्वारा नियमों का अक्षरशः पालन कराया जायेगा। 14 दिन की क्वारंटाइन अवधि पूर्ण कर एवं व्यक्ति के स्वस्थ पाये जाने पर अपने निवास स्थान पर जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति को एक सप्ताह के उपयोगार्थ निःशुल्क कच्ची खाद्य सामग्री किट उपलब्ध करायी जायेगी।
बैठक में पुलिस अधीक्षक विक्रान्त वीर, मुख्य विकास अधिकारी डा0 राजेश कुमार प्रजापति, अपर जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह, राकेश कुमार गुप्ता, नगर मजिस्ट्रेट चंदन पटेल, उप निदेशक सूचना डा0 मधु ताम्बे सहित वरिष्ठ जिला स्तरीय अधिकारी गण आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *