प्रयागराज

मण्डलायुक्त ने आश्रय स्थलों में ठहराए गए लोगों का जाना हाल

लोगों ने भोजन, पीने का पानी, साफ सफाई आदि मूलभूत सुविधाओं पर संतोष व्यक्त किया।

प्रयागराज। मण्डलायुक्त आर. रमेश कुमार एवं आई जी जोन के0पी0 सिंह आज दोपहर शहर के विभिन्न आश्रय स्थलों में ठहराए गए लोगों का हाल जानने के लिए निकले। दोनो शीर्ष अधिकारियों ने केपी कॉलेज ग्राउंड, राम विला गेस्ट हाउस, संध्या गेस्ट हाउस, श्याम उत्सव, केशरी भवन, तुलसी गार्डन तथा हैजा अस्पताल क्षेत्र स्थित नगर निगम के अलग-अलग आश्रय गृहों का निरीक्षण कर वहां ठहराए गए लोगों से व्यक्तिगत रूप से बातचीत करते हुए सभी व्यवस्थाओं की जानकारी ली तथा प्राप्त शिकायतों के तत्काल निस्तारण के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी प्रयागराज भानु चंद्र गोस्वामी भी उपस्थित रहे। http://dus anguliya chainal

मण्डलायुक्त ने कहा कि सभी आश्रय स्थलों पर तैनात प्रभारी अधिकारी व पुलिस अधिकारी प्रतिदिन शाम को एक बैठक करके उस दिन आई समस्याओं के बारे में विचार करें तथा उसके निस्तारण को सम्मिलित करते हुए अगले दिन की कार्य योजना बनाए तथा उसके अनुसार ही क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। उन्होंने नियमानुसार उपलब्ध कराए जा रहे नाश्ता, भोजन तथा अन्य सुविधाओं पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि यदि किसी को अतिरिक्त भोजन या किसी अन्य चीज की आवश्यकता होती है तो संबंधित अधिकारी उसकी उपलब्धता सुनिश्चित कराएं। आश्रय स्थलों की साफ-सफाई, शौचालयों की साफ-सफाई, शौचालयों में पानी की उपलब्धता, स्नान व साबुन, सैनिटाइजर, मास्क आदि आवश्यक सामान निश्चित रूप से मुहैया कराया जाए। संपूर्ण निरीक्षण के दौरान मण्डलायुक्त तथा पुलिस महानिरीक्षक द्वारा व्यक्तिगत रूप से की गई बातचीत में अधिकतर लोगों ने भोजन, पीने का पानी, साफ सफाई आदि मूलभूत सुविधाओं पर संतोष व्यक्त किया।
पुलिस महानिरीक्षक ने मौके पर उपस्थित पुलिस अधिकारियों से कहा कि यदि कहीं पर लोगों को साबुन, मास्क, बिस्किट जैसी चीजों की आवश्यकता होती है तो पुलिस अधिकारी अपने स्तर से समन्वय बनाते हुए जरूरत की चीजें उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें तथा लोगों में धैर्य व विश्वास का संचार करें। शीर्ष अधिकारियों द्वारा पूछने पर लोगों ने बताया कि अधिकतर लोग बिहार, मध्य प्रदेश तथा उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों के रहने वाले हैं। कुछ लोगों ने अपने-अपने घरों को जाने की इच्छा व्यक्त की जिस पर मंडलायुक्त ने इच्छुक लोगों को नियमानुसार उनके घरों को भेजे जाने की व्यवस्था शीघ्र किए जाने के निर्देश दिए। मण्डलायुक्त ने आश्रय स्थलों में ठहरे हुए लोगों की संख्या उनके निवास स्थान आदि की जानकारी ली तथा जिलाधिकारी से कहा कि आवश्यकता के अनुसार समय पर लोगों की काउंसलिंग भी कराएं जिससे लोगों में धैर्य व उत्साह बना रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *