प्रयागराज

जिलाधिकारी ने प्रयागराज जंक्शन का किया निरीक्षण

सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन कराने के जिलाधिकारी ने दिए निर्देश

प्रयागराज। जिलाधिकारी भानु चंद्र गोस्वामी ने रेलवे के उच्चाधिकारियों के साथ प्रयागराज जंक्शन का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने प्रयागराज जंक्शन में बनाये गये आश्रय स्थलों का जायजा लेते हुए की गयी व्यवस्थाओं की जानकारी ली। जिलाधिकारी ने कहा कि स्टेशन में श्रमिकों की मेडिकल जांच करायी जायेगी। कोई भी श्रमिक बिना जांच के बाहर न जाने पाये, इसका विशेष ध्यान रखा जाये। स्टेशन परिसर में यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए खड़े होने हेतु गोले बना दिए गए है जिससे समस्त यात्री एक निश्चित दूरी पर ही खड़े होंगे। श्रमिक स्पेशल गाड़ियों के आगमन के समय किसी भी बाहरी व्यक्ति का स्टेशन परिसर में प्रवेश पूर्णतः वर्जित कर दिया गया है।https://www.youtube.com/watch?v=vrbgS6PJw9w
कोरोना वायरस से बचाव हेतु संपूर्ण देश में लाक डाउन के कारण सम्पूर्ण देश में परिवहन, प्रतिष्ठान, माल, दूकान, स्कूल, कालेज एवं यात्री गाड़ियों का परिचालन बंद होने के कारण उत्तर भारत के श्रमिक, विद्यार्थी एवं दर्शनार्थी लाकडाउन के कारण जो गुजरात, महाराष्ट्र आदि प्रदेशों से अपने घर वापस नहीं आ सके, ऐसे लोगों को गृह नगर वापस लाने हेतु राज्य सरकारों की आपसी सहमति से रेलवे द्वारा श्रमिक स्पेशल गाड़ियों का संचालन किया जा रहा है। प्रयागराज मंडल के अंतर्गत प्रयागराज जंक्शन एवं कानपुर सेंट्रल प्रमुख स्टेशन है और इन दोनों स्टेशनों हेतु दक्षिण भारत से श्रमिक स्पेशल गाड़ियों का संचालन किया जा रहा है।
प्रयागराज एवं आसपास के यात्री जो लाकडाउन के कारण दक्षिण भारत से वापस नहीं आ सके हैं उनको वापस लाने हेतु श्रमिक स्पेशल गाड़ियों का संचालन किया जा रहा है। दिनांक 06 मई, को प्रयागराज जंक्शन पर 4 श्रमिक स्पेशल गाडि़यों के आने की संभावना है। 05 मई, को गाड़ी सं 09315-16 सूरत से 14.30 बजे चलकर दिनांक 06 मई, को प्रयागराज जंक्शन पर 07.30 बजे पहुंचेगी, जिसमें 18 स्लीपर, 04 जनरल 02 एसएलआर सहित कुल 24 कोच लगाये गए है और इस गाड़ी में कुल 1200 यात्री सवार हैं। इसी प्रकार 5 मार्च, को गाड़ी सं 09303ध्04 वीरमगाम से 15.00 बजे चलकर दिनांक 06 मई, को प्रयागराज जंक्शन पर 10.30 बजे पहुंचेगी, जिसमें 17 स्लीपर, 03 जनरल, 02 एसएलआर सहित कुल 22 कोच लगाये गए है और इस गाड़ी में कुल 1200 यात्री सवार हैं। इसके अतिरिक्त एक और श्रमिक एक्सप्रेस सूरत से तथा एक श्रमिक एक्सप्रेस लुधियाना से आएगी इसके अतिरिक्त एक और श्रमिक एक्सप्रेस के गुजरात से आने की संभावना है। इस प्रकार कुल 04 श्रमिक एक्सप्रेस का आना निश्चित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *