जिला

मजदूरों के गृह जनपद पहुंचने पर डीएम व एसएसपी ने किया निरीक्षण

गोरखपुर। तीन चरणों में 17 मई तक पूरे भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 कोरोना संक्रमण महामारी के रोकथाम हेतु लाक डाउन की घोषणा के बाद जो मजदूर जिस प्रदेशों में रहा, वहीं फस गया। लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निवेदन पर भारत सरकार ने दिल्ली मुंबई हैदराबाद सहित अन्य प्रमुख शहरों से ट्रेन चलाने की घोषणा के साथ मजदूरों को भेजने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया।
आज गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर सुबह से सात ट्रेनों को आने की सूचना थी लेकिन किन्हीं अपरिहार्य कारणों से एक ट्रेन स्थगित कर दी गई फिर भी 6 ट्रेनें देर शाम तक पहुंचती रही। उसकी सूचना पर जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ सुनील गुप्ता रेलवे स्टेशन पर पहुंच कर वहां पहले से मौजूद एडीएम सिटी राकेश कुमार श्रीवास्तव, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट एसडीएम सदर गौरव सिंह सोगरवाल व रेलवे के संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। एडीएम सिटी एवं एसडीएम सदर की देखरेख में पहुंचने वाले सभी मजदूरों को थर्मल स्क्रीनिंग कराते हुए आए हुए मजदूरों को फल बिस्किट पानी सहित अन्य खाद्य सामग्रियां उपलब्ध कराई गई। सभी मजदूरों को थर्मल स्क्रीनिंग कराते हुए उनको बसों में बैठाकर पहुंचाने का कार्य दो शिप्ट में लगाये गये बावन बावन लेखपालों ने ड्यूडी निभाते हुए 6 ट्रेनों से आये हुये मजदूरों को लगभग 300 बसों में बैठाकर विभिन्न जनपदों गंतव्य तक पहुंचाने का कार्य किया।
रेलवे स्टेशन पर एसीएम सुरेश राय व सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दीक्षित, नायब तहसीलदार सुमित सिंह, नायब तहसीलदार सदर राधेश्याम गुप्ता, कानूनगो प्रदुमन सिंह, वीर बहादुर सिंह, घनश्याम शुक्ला सहित तहसील प्रशासन के अन्य कर्मचारीगण तथा रेलवे के अधिकारी व कर्मचारी अपनी-अपनी ड्यूटी शिफ्टवार निर्वहन करते हुये मजदूरों को भेजने का कार्य किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *