उन्नाव

चोरी-छिपे बाहर से आने वाले व्यक्ति को गांव में घुसने न दें-जिलाधिकारी

उन्नाव। जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार व पुलिस अधीक्षक विक्रान्त वीर की अध्यक्षता में विकास भवन में कोरोना वायरस के बचाव से संबंधित 11 सदस्य समितियों के साथ समीक्षा बैठक संपन्न हुई।
जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को सम्बोधित करते हुये कहा कि जिन लोगों को होम क्वॉरेंटाइन कराया जाए, उन्हें खाद्यान्न की किट भी उपलब्ध कराएं, जो प्रवासी रात में गांव पर आते हैं उस पर गांव की निगरानी समिति को सक्रिय करके फीडबैक लंे। कोई भी व्यक्ति अगर चोरी-छिपे आ रहे हैं, उन्हें कतई गांव में घुसने न दिया जाए। इस सापेक्ष अगर किसी गांव में ढिलाई बरती जाएगी तो संबंधित गांव की निगरानी समिति पर कार्यवाही की जाएगी तथा अब जो बाहर से आ रहे हैं उन्हें विद्यालयों पर न रखकर उनके घरों पर 21 दिन के लिए होम क्वॉरेंटाइन कराया जाए। प्रभारी अधिकारी कंट्रोल रूम से कहा कि जो प्रवासी गांव में 21 दिन के लिए होम क्वॉरेंटाइन किए गए हैं उनसे फोन पर कुछ व्यक्तियों से बात करके फीडबैक अवश्य लें। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि जिला अस्पताल को लगातार सैनिटाइज कराएं तथा साफ-सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखें।
जिलाधिकारी ने कहा कि उप जिलाधिकारी तथा खंड विकास अधिकारी खुद गांव का भ्रमण करके अपने समक्ष बैठक कराएं। 21 दिन का होम क्वॉरेंटाइन वाले घरों पर पोस्टर चस्पा अवश्य करा दें। शासन से भी समीक्षा की जा रही है। बैठक की फोटो भी ग्रुप में डाला जाए। खंड विकास अधिकारियों से कहा कि मनरेगा में कोई गलत रिपोर्ट नहीं होनी चाहिए। सभी ब्लॉक नोडल अधिकारी भ्रमण करके मनेरगा के कार्यों का निरीक्षण अवश्य करलें। उन्होंने कहा कि कहीं से अगर शिकायत प्राप्त हुई तो सख्त कार्यवाही करूंगा। खंड विकास अधिकारियों से कहा कि हैंडपंपों का शत.प्रतिशत मरम्मत तथा रिबोर करा लें ताकि पेयजल की कोई समस्या न हो। उन्होंने ने कहा कि हॉट स्पॉट के क्षेत्र में होम डिलीवरी के माध्यम से सभी आवश्यक वस्तुओं का संचालन निरंतर जारी रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *