उन्नाव

पिता के बाद इकलौते बेटे ने सेना में रखा कदम

उन्नाव। देश की सीमाओं को दुश्मनों से बचाने के लिए पिता के बाद इकलौते बेटे ने भी सेना में कदम रख दिया। शनिवार को बेटे की पासिंग आउट परेड सेरेमनी में माता-पिता कोरोना महामारी के चलते शामिल नहीं हुए। पासिग आउट परेड का लाइव प्रसारण यू ट्यूब पर सुबह 6.30 से 8.30 तक किया गया। जिसमें सैन्य अफसर की चकाचक वर्दी और उस पर लगे चमकते स्टार में अपने रणबांकुरे लाल को देखकर घर बैठे माता-पिता और जिलेवासी असीम गौरवान्वित पलों से सराबोर हो गए।
जिले के बिछिया ब्लॉक के गांव सरांय कटियान के मूलतः और अब स्थायी तौर पर शहर के गिरजाबाग निवासी अंकुर यादव ने टीईएस (टेक्निकल इंट्री स्कीम) से एसएसबी के माध्यम से सेना की आर्टिलरी में स्थायी कमीशन प्राप्त किया। 2016 में बतौर तकनीकी प्रवेश स्कीम से अंकुर ओटीए (ऑफीसर ट्रेनिग अकादमी) गया (बिहार) पहुंचे। जहां एक साल कठिन प्रशिक्षण के बाद एमसीटीई मऊ में टेक्निकल ज्ञान प्राप्त किया। प्रशिक्षण पूरा होने पर अंकुर को पीओपी में शामिल होने के बाद बतौर लेफ्टिनेंट उनके कंधे पर स्टार उनके एक बैच सीनियर लेफ्टिनेंट दर्शन यादव और हर्ष तिवारी ने लगाए।
कोरोना काल से पहले सैन्य अफसरों की पासिंग आउट परेड में उनके स्वजन वहां शामिल होते थे और पीओपी के बाद बेटे के कंधे पर एक ओर मां तो दूसरी ओर पिता स्टार अपने हाथों से लगाते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *