वाराणसी

धर्मनगरी काशी में बाबा विश्वनाथ के दर्शन को उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

वाराणसी। महादेव की नगरी काशी में सावन का महीना उनके भक्तों के लिए खास होता है। इस पवित्र महीने में श्रद्धालुओं की काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए उमड़ती है। सावन के पहले सोमवार के दिन भक्त महादेव के दर्शन के लिए लाइन में लगे हैं। हालांकि कोरोना संक्रमण को लेकर प्रशासन गाइडलाइन के साथ ही श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश करने की इजाजत दे रहा है। मंदिर में प्रवेश और निकास के लिए मंदिर प्रशासन की ओर से तीन अलग-अलग मार्ग तैयार किए हैं। मंदिर प्रशासन द्वारा इन मार्गों के प्रवेश द्वार पर श्रद्धालु के हाथ सैनिटाइज और उनकी थर्मल स्क्रीनिंग कराई जा रही है। उसके बाद ही उन्हें प्रवेश दिया जा रहा है। साथ ही कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सभी श्रद्धालु मास्क का प्रयोग कर रहे हैं, बिना मास्क लगाने वालों को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है।
इस दौरान श्रद्धालुओं के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है। काशी विश्वनाथ का दरबार में शिव भक्तों के आगमन को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने बैरिकेडिंग करा कर उसमें रेड कारपेट बिछाया है। काशी विश्वनाथ मंदिर के मुख्य कार्यपालक गौरांग राठी ने रविवार को श्रद्धालुओं की व्यवस्था का जायजा लिया और अधिकारियों को उसे सही करने के निर्देश दिए थे।
मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने बताया कि मैदागिन की ओर से आने वाले श्रद्धालुओं को गेट नंबर- 4 के पांचों पांडव प्रवेश द्वार से प्रवेश दिया जा रहा है, जहां से श्रद्धालु रानी भवानी उत्तरी होते हुए गर्भ गृह के पूर्वी द्वार पर दर्शन कर दूसरे मार्ग से बाहर आ रहे हैं। वहीं श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चैधरी ने सुरक्षा मद्देनजर गोदौलिया चैराहे से पैदल ही दर्शनार्थियों के लिए किए गए सुरक्षा इंतजाम को देखा और सभी सुरक्षा व्यवस्था मे लगे पुलिस अधिकारियों को दिशा निर्देश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *