उन्नाव

बांगरमऊ विधानसभा के उप निर्वाचन हेतु आज से होगा नामांकन पत्रों का दाखिला

16 अक्टूबर तक पूर्वान्ह् 11 बजे से अपरान्ह् 3 बजे तक किया जा सकेगा नामांकन

उन्नाव। जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने बताया कि बांगरमऊ विधानसभा के उप निर्वाचन की प्रक्रिया के तहत आज 9 अक्टूबर से शुरु हो रहे नामांकन कार्य को सम्पन्न कराने हेतु सभी व्यवस्थायें पूर्ण कर ली गयी हैं। सुरक्षा का मुकम्मल इन्तजाम रहेगा। नामांकन पत्रों का दाखिला पूर्वान्ह् 11ः00 बजे अपरान्ह् 3ः00 बजे तक की जायेगी। नाम निर्देशन पत्रों को आगामी 16 अक्टूबर तक अवकाश दिवसों को छोड़ कर जमा की जा सकेगी।
मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय/राजनैतिक दलों अथवा अमान्यता प्राप्त पंजीकृत दल के अभ्यर्थी को पार्टी के अध्यक्ष द्वारा जारी फार्म-ए एवं बी प्रस्तुत करना अनिवार्य है। ऐसे दलों के अभ्यर्थियों हेतु एक प्रस्तावक तथा अन्य के लिये 10 प्रस्तावक अनिवार्य है। प्रस्तावक उसी विधानसभा में समाविष्ट विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचक नामावली में जिस विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी अपना नामांकन दाखिल कर रहा है, सम्मिलित होना चाहिये। यदि अभ्यर्थी अपने से भिन्न निर्वाचन क्षेत्र में नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करता है तो उसे मतदाता सूची के उद्वरण की प्रमाणित प्रतिलिपि जो जिला निर्वाचन कार्यालय से निर्गत की गयी हो, प्रस्तुत करना होगा। निर्वाचन व्यय के समस्त भुगतान हेतु एक पृथक से बैंक खाता अभ्यर्थी द्वारा खोला जायेगा, जिसकी सूचना नामांकन के समय प्रस्तुत की जायेगी। बैंक खाता नामांकन जमा करने से कम से कम एक दिन पूर्व का होना चाहिये। निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा सामान्य निर्वाचनो के व्यय हेतु 28 लाख की अधिकतम धनराशि सीमा निर्धारित की गयी है। नाम निर्देश पत्र जमा करने के लिये अभ्यर्थी के साथ अधिकतम 2 व्यक्ति आ सकेगें।
उम्मीदवार को आपराधिक मामलों के बारे में घोषणा प्रारुप सी-1 व सी-2 पर देना होगा तथा प्रारुप 2(ख) एवं प्रारुप 26 में एक-एक फोटो चस्पा करना होगा तथा मतपत्र के प्रयोगार्थ अभ्यर्थी को 5 फोटो नवीनतम संलग्न करना होगा।
जिलाधिकारी ने यह भी बताया नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा 17 अक्टूबर को तथा नाम वापसी का अन्तिम तिथि 19 अक्टूबर अपरान्ह् 3ः00 बजे तक निर्धारित है। तत्पश्चात् चुनाव चिन्ह का आवंटन किया जायेगा। मतदान हेतु 03 नवम्बर 2020 की तिथि निर्धारित है। निर्वाचन की सभी प्रक्रियाओं में कोविड-19 के गाइडलाइन का पालन सभी को सुनिश्चित करना होगा।

निर्वाचन हेतु अभ्यर्थी की आयु 25 वर्ष होनी चाहिये-
जिलाधिकारी ने नामंाकन प्रक्रियाओं के जानकारी के पूर्ण विवरण में बताया कि इस विधानसभा के निर्वाचन हेतु अभ्यर्थी की आयु 25 वर्ष होनी चाहिये तथा उसका नाम उत्तर प्रदेश के किसी भी विधानसभा क्षेत्र की मतदाता सूची में सम्मिलित होना चाहिये। नाम निर्देशन पत्र प्रारुप 2(ख) में प्रस्तुत किया जायेगा। एक अभ्यर्थी अधिकतम 4 सेट में नामांकन पत्र प्रस्तुत कर सकता है। उम्मीदवार द्वारा रिटर्निंग आफिसरध्सहायक रिटर्निंग आफिसर के सम्मुख नामांकन पत्र के साथ शपथ पत्र प्रारुप 26 संलग्न कर प्रस्तुत किया जायेगा, जिसमें स्वयंध्पति-पत्नी व सभी आश्रित के अलावा हिन्दू अविभक्त कुटूम्ब का विवरण भी भरना होगा। शपथ पत्र के सभी कालम भरे होने चाहिये। अधूरा/कोई कालम खाली होने पर फार्म अपूर्ण माना जायेगा। अभ्यर्थी द्वारा जमानत के रुप में रुपये 10 हजार की धनराशि जमा करनी होगी। अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थी द्वारा रुपये 5 हजार की जमानत धनराशि जमा किया जायेगा तथा इन्हें जाति प्रमाण-पत्र संलग्न करना अनिवार्य होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *