जिला वाराणसी

गौरा चली ससुराल, बरसे अबीर-गुलाल

बनारस। रंगभरी एकादशी पर कोरोना मुक्ति व गंगा निर्मलीकरण की कामना से नमामि गंगे के सदस्यों ने केदार घाट स्थित गौरी-केदारेश्वर मंदिर में भोलेनाथ व माता पार्वती के साथ मां गंगा की आरती की। इससे पूर्व गौरी-केदारेश्वर के साथ गुलाल और पुष्प की होली खेली गई। अबीर-गुलाल से विधिवत पूजन-अभिषेक किया गया। इस दौरान केदार घाट पर मां गंगा के लिए जन जागरण किया गया । केदार घाट पर उपस्थित नागरिकों ने गंगा घाट पर गंदगी न करने का संकल्प लिया। पर्यावरण संरक्षण हेतु नमामि गंगे के सदस्यों ने गंगा किनारे पड़े पॉलिथीन, कपड़े एवं कूड़े कचरे को साफ कर पॉलिथीन मुक्त गंगा घाट की अपील की। संयोजक राजेश शुक्ला ने कहा की रंगभरी एकादशी के पावन पर्व पर आदिदेव और आदिशक्ति का पूजन कोरोना से मुक्ति और भारत की समृद्धि के लिए किया गया। भगवान शिव शंकर ने जगत हित में मां गंगा को अपने शीश धरा है। महादेव से गंगा निर्मलीकरण की कामना है।
आयोजन में प्रमुख रूप से काशी प्रांत के संयोजक राजेश शुक्ला, महानगर सहसंयोजक शिवम अग्रहरी, रामप्रकाश जायसवाल, सीमा चैधरी रश्मि साहू , सारिका अग्रहरि, पुष्पलता वर्मा, मनीष कपूरिया आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *