हमीरपुर

सीएचसी के एक्स-रे रुम पर ताला, बंद पड़ा अस्पताल

राठ हमीरपुर। कस्बे में सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं। जहां नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बंद पड़ा है। वहीं सीएचसी के एक्स-रे कक्ष में ताला पड़ा है। जिससे दुर्घटनाओं में गंभीर रूप से घायल होने वालों को एक्स-रे कराने को यहां वहां भटकना पड़ता है। वहीं अस्पताल में विशेषज्ञों के अभाव में यहां पहुंचने वाले मरीज की उम्मीदें टूट रही हैं। कोरोना संक्रमण के चलते शासन स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के प्रयास में जुटा है। वहीं जिला स्तरीय जिम्मेदार पुरानी व्यवस्थाओं को ठीक ढंग से संचालित नहीं कर पा रहे। कस्बे में स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने को एक नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व एक सीएचसी है। मौजूदा में सीएचसी में सर्जन, हड्डी रोग, बाल रोग, फिजीशियन, पैथालॉजिस्ट, रेडियोलॉजिस्ट सहित कई विशेषज्ञ डाक्टरों की तैनाती नहीं है। जिस कारण मरीजों को इलाज के लिए बड़े शहरों की ओर जाना पड़ता है। ओटी असिस्टेट, नेत्र सर्जन की तैनाती नहीं है। कुछ डॉक्टरों के भरोसे चल रहे अस्पताल में सैकड़ों की संख्या में आने वाले मरीजों का सही तरीके से इलाज नहीं हो पाता है।

वहीं शासन के निर्देश के बाद ओपीडी बंद किए जाने से यहां के नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को भी बंद कर दिया गया। हाल यह है कि यहां बताने के लिए किसी कर्मचारी तक की मौजूदगी नहीं रहती। जिससे यहां आने वाले मरीज भटककर वापस लौट जाते है। जबकि यहां टीकाकरण होना दर्शाया जा रहा है। सुविधा शुल्क की मांग महिला अस्पताल में प्रसव कराने के नाम पर सुविधा शुल्क वसूला जाता है। पीड़ा से कराहती प्रसूताओं से सुविधा शुल्क के नाम पर एक से तीन हजार रुपए तक पहले ले लिए जाते है उसके बाद ही उनका प्रसव कराया जाता है। देने में आनाकानी करने वाली पीड़िताओं को गंभीर बता रेफर कर दिया जाता है। तीन माह से नहीं है एक्स-रे फिल्म अस्पताल में बीते तीन माह से एक्स-रे फिल्म का टोटा है। जिस कारण मरीजों को बाहर एक्स रे कराने जाना पड़ता है। जबकि अस्पताल की एक्स-रे मशीन शोपीस बनी है। स्वास्थ्य सेवाएं ठीक होने का दावा कस्बे व क्षेत्र वासियों को भले ही ठीक ढंग से इलाज नहीं मिल पा रहा। लेकिन सीएचसी प्रभारी डॉ. जेपी साहू स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर ढंग से संचालित होने का दावा कर रहे है। उनका कहना है कि नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के कर्मचारियों को सीएचसी में लगाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *