.

डीएम ने कोविड कमांड सेंटर में समीक्षा किया

बस्ती। कोरोना जांच के लिए जा रहे सैंपलिग में गड़बड़ी से सैंपल फेल हो जा रहे हैं। कुछ ऐसा ही मामला तीन सीएचसी में पकड़ में आया है। इस पर डीएम सौम्या अग्रवाल ने सैंपल फेल होने पर जिम्मेदारी तय करते हुए सीएमओ को वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं।

को डीएम विकास भवन के कोविड कमांड सेंटर में समीक्षा कर रही थीं। समीक्षा में पाया कि कोविड-19 का कप्तानगंज में 48, रुधौली में 47 तथा मरवटिया में 44 सैंपल फेल हो गया है। डीएम ने इसके लिए जिम्मेदारी तय करने तथा उनका वेतन रोकने के लिए सीएमओ को निर्देशित किया है। निर्देश दिया है कि कोविड-19 का सैंपल तैयार करने, डिस्पैच करने, सीएमओ कार्यालय में प्राप्त कराने के लिए प्रत्येक चिकित्साधिकारी लिखित में कर्मचारी की ड्यूटी लगाएं तथा स्वयं भी इसका निरीक्षण करें। कहा कि कोविड-19 का सैंपल एकत्र करने में आरआरटी टीम, सैंपल टीम तथा अन्य संसाधन लगाए जाते हैं। किसी एक कर्मचारी के कारण सारी मेहनत पर पानी पड़ जाता है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अब लापरवाही पाये जाने पर दोषी कर्मचारी तथा प्रभारी चिकित्साधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने ओपेक कैली अस्पताल में भर्ती मरीजों से तथा होमआईसोलेशन में रह रहे संक्रमित व्यक्तियों से फीडबैक प्राप्त कर उनकी समस्याओं का निस्तारण किए जाने के निर्देश दिए।

जिला विद्यालय निरीक्षक डीएस यादव ने बताया कि होमआईसोलेशन वाले 151 संक्रमित व्यक्तियों से वार्ता की गई है। सभी को मेडिसिन किट प्राप्त हो गई है। माध्यमिक शिक्षा में तैनात 1050 शिक्षकों की सूची तैयार की जा रही है, जिनका टीकाकरण कराया जाएगा। जिला पूर्ति अधिकारी रमन मिश्र को निर्देश दिया कि गुरुवार को अपने कार्यालय में टीकाकरण सेशन आयोजित कराएं। सभी कर्मचारियों, कोटेदारों का टीका लगवाना सुनिश्चित करें। 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के अभिभावको की संख्या को देखते हुए जिलाधिकारी ने उनके कार्यालय में टीकाकरण के लिए दो टीम तैनात करने के लिए अर्बन के नोडल डा. एके कुशवाहा को निर्देशित किया है। इस दौरान सीडीओ डा. राजेश कुमार प्रजापति, सीएमओ डा. अनूप कुमार, डा. आलोक कुमार, डा. सोमेश श्रीवास्तव, डा. फखरेयार हुसैन, डा. सीके वर्मा आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *