ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

खनिज विभाग और पुलिस की कार्यवाही में 53 ओवर लोड ट्रक सीज

बांदा। कई दिनों से मीडिया में खबरे चल रही थी की अवैध खनन और ओवर लोडिंग पर प्रशासन कार्यवाही करने में क्यों हिचकिचा रहा है। प्रधानमन्त्री के दौरे को लेकर जिला प्रशासन ने पांच दिनों तक अवैध खनन और ओवर लोडिंग पर रोक लगा दी थी। लेकीन दौरे बाद फिर ओवर लोडिंग और अवैध खनन चालू हो गया था। 15 नवम्बर को जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने बालू पट्टा धारकों को सख्त निर्देश जारी किए थे कि अवैध खनन और ओवर लोडिंग नही करेगें। निर्धारित स्थान पर ही खनन करवाए और नदी की जल धारा से न बालू निकाले। लेकीन माफिया मानने वाले कहा जिलाधिकारी आदेश को चुनौती देते हुए खनन करा रहे हैं माफिया। पर्यावरण विभाग के निर्देशों की खुले आम धज्जियां उड़ाते हैं। माफियाओं की पहुंच शीर्ष नेतृत्व तक होने के कारण नियमों को खुले आम ताक में रखकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।
रोज रोज अवैध खनन और ओवर लोडिंग पर खबर प्रकाशित होने के कारण प्रशासन की देश प्रदेश में किरकिरी होने के कारण प्रशासन ने ओवर लोडिंग पर करीब महीने भर बाद कार्यवही की है। लेकीन खनिज क्षेत्र में जानें की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा है। जब अधिकारियो से इस संबंध में जानकारी प्राप्त करना चाही तो गोल मटोल जवाब देते नजर आए। जब खनिज आधिकारी से पुछा गया कि खनिज क्षेत्र में अवैध खनन हो रहा है , निर्धारित स्थान से हट कर खनन किया जा रहा हैं।तो उन्होने कहा कि संज्ञान में आया है कार्यवाही की जाएगी।
उत्तर प्रदेश के बांदा में प्रशासन, खनिज विभाग और पुलिस की संयुक्त चेकिंग में ओवर लोडिंग और अवैध परिवहन में बालू के 53 ट्रक सीज किए गए। यह कार्रवाई बीती रात की गई। हमीरपुर के बाडर से जुड़े पैलानी व जसपुरा क्षेत्र में कार्रवाई की गई है। पैलानी एसडीएम सुरभि शर्मा के नेतृत्व में सयुक्त टीम द्वारा छापे मारी की गई। छापेमारी 53 ट्रैको को सीज किया गया। आखिर कार एसडीएम सुरभि शर्मा ने माना कि तहसील क्षेत्र में अवैध खनन और ओवर लोडिंग बहुत तेजी से चल रही है। पैलानी एसडीएम ने तहसील क्षेत्र में पहली बार खनिज विभाग और पुलिस की संयुक्त टीम के साथ ओवर लोडिंग पर कार्यवाही शुरू की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *