ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

84 कोसी परिक्रमा मार्ग पर्यटन, रोजगार और व्यापार के दृष्टिकोण से उपयोगी

लखनऊ। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि अयोध्या 84 कोसी परिक्रमा मार्ग को पर्यटन, रोजगार और व्यापार के दृष्टिकोण से भी बहुत उपयोगी बनाया जायेगा। परिक्रमा मार्ग ऐतिहासिक मार्ग बनेगा, यह मार्ग 227-बी नेशनल हाईवे के नाम से जाना जायेगा। 275 किमी0 लम्बे इस मार्ग का संरेखण 45 मी0 चैड़ा होगा तथा यह मार्ग 04 लेन का बनेगा। मार्ग पर पड़ने वाले प्रमुख धार्मिक, सांस्कृतिक, पौराणिक व पर्यटन के स्थलों की झांकी दर्शायी जायेगी। मार्ग के आस-पास पड़ने वाले पौराणिक व धार्मिक स्थलों को लिंक मार्ग से जोड़ा जायेगा। 84 कोसी परिक्रमा मार्ग में पड़ने वाले सभी 5 जिलों में जिलास्तर से एक-एक नोडल अधिकारी बनाया जायेगा। मार्ग पर श्रद्धालुओं की सुविधा के लिये जगह-जगह हाल्ट भी बनाये जायेंगे।
श्री मौर्य आज 84 कोसी परिक्रमा मार्ग को नये स्वरूप में धरातल पर उतारने के लिये लोक निर्माण विभाग मुख्यालय स्थित कमाण्ड सेन्टर में आयोजित उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में अयोध्या, अम्बेडकरनगर, गोण्डा, बाराबंकी व बस्ती के सांसदों, विधायकों व जिलाधिकारियों से सुझाव भी लिये गये तथा 84 कोसी परिक्रमा मार्ग का विभाग द्वारा प्रेजेन्टेशन भी किया गया। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनप्रतिनिधियों के सुझावों को ध्यान में रखते हुये, सभी औपचारिक कार्यवाही शीघ्र से शीघ्र सुनिश्चित की जाय। बैठक में कैबिनेट मंत्री रमापति शास्त्री, राज्यमंत्री चन्द्रिका प्रसाद उपाध्याय, अयोध्या के सांसद लल्लू सिंह, बस्ती के सांसद हरीश द्विवेदी, विधायक प्रतीक भूषण सिंह, प्रमुख सचिव लो0नि0वि0 नितिन रमेश गोकर्ण, सचिव लोक निर्माण विभाग समीर वर्मा, जिलाधिकारी बस्ती श्रीमती सौम्या अग्रवाल, जिलाधिकारी अयोध्या अनुज कुमार झा, जिलाधिकारी बाराबंकी डॉ0 आदर्श सिंह सहित अन्य अधिकारियों व विधायकोंध्जनप्रतिनिधियों ने अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिये। बैठक में विशेष सचिव लोक निर्माण विभाग गिरिजेश त्यागी, प्रमुख अभियन्ता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष राकेश सक्सेना, प्रमुख अभियन्ता मनोज गुप्ता, मुख्य अभियन्ता (रा0मा0) अशोक कनोजिया, मुख्य अभियन्ता संजय श्रीवास्तव, विशेष कार्याधिकारी प्रदीप कुमार सहित लोक निर्माण विभाग के अन्य अभियन्ता व अधिकारी प्रमुख रूप से माजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *