ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

कांग्रेसियों ने शुक्लागंज के पुराने गंगापुल खोलने की मांग की

उन्नाव। विगत डेढ़ वर्षों से शुक्लागंज के पुराने गंगापुल की बन्दी की कीमत शुक्लागंज, आसपास के गांव और उन्नाव के लोग जाम से जूझ कर अथवा दस किलोमीटर का चक्कर लगा कर चुका रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष सुभाष सिंह, सदर विधान सभा के दावेदार राहुल जयसवाल, नगर अध्यक्ष दीपक राज नारायन प्रजापति, ने आयोजित संयुक्त पत्रकार वार्ता मंे उक्त बात कही। आगामी 8 नवम्बर तक पुराने गंगा पुल को पुनः चालू करने पर उसी गंगा पुल पर भूख हडताल शुरू करने की चेतावनी दी है। बताया कि शुक्लागंज के साथ साथ इस पास के गांवों के हजारों लोग प्रतिदिन रोजी रोटी कमाने के लिए साइकिल, मोटर साइकिल, ई रिक्शा, चैपहिया वाहनों से कानपुर आते जाते हैं। जहां स्थापित कर कारखानों ब्यापारिक प्रतिष्ठानों पर नौकरी कर रोजी रोटी कमाते है। उन्नाव के व्यापारी थोक मंे सामान खरीदने के लिए रोज कानपुर आते जाते हैं, लेकिन जबसे पुराना गंगा पुल बन्द है तब से कानपुर जाना और हिमालय पर चढ़ना दोनों बराबर हो गया है। सुबह-शाम नये पुल पर इतना जाम लग जाता है कि लोग मजबूर होकर दस किलोमीटर का चक्कर लगा गंगा बैराज अथवा जाजमऊ पुल से आते जाते है। बन्द पुल को लेकर पूरे शुक्ला गंज में आक्रोश ब्याप्त है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *