ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

मण्डलायुक्त ने इनर रिंग रोड के सम्बंध में समीक्षा की

प्रयागराज। मण्डलायुक्त संजय गोयल शुक्रवार को गांधी सभागार में प्रयागराज में बनने वाले इनर रिंग रोड के निर्माण के सम्बंध मे की जा रही कार्रवाईयों के प्रगति की समीक्षा करते हुए रिंग रोड के प्रथम फेज में रीवा रोड़ से सहसों तक बनने वाले सड़क के निर्माण कार्य को महाकुम्भ-2025 को लक्ष्य में रखते हुए पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है।
बैठक में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, प्रयागराज के परियोजना निदेशक ए0के0 राय ने बताया कि रिंग रोड़ के निर्माण का कार्य दो फेज में कराया जायेगा। पहले फेज में रीवा रोड़ से सहसों तक तथा दूसरे फेज में रीवा रोड़ से कौड़िहार के कसारी गांव तक रिंग रोड़ का निर्माण कराया जायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि प्रस्तावित इनर रिंग रोड़ की लम्बाई 65.66 किमी0 होगी तथा जिसकी कुल लागत 7030 करोड़ रूपये होगी। उन्होंने यह भी बताया कि इनर रिंग रोड़ के एलाइनमेंट का कार्य फाइनल हो गया है तथा भूमि अधिग्रहण का कार्य चल रहा है। इनर रिंग रोड़ के निर्माण में कुल 3 पुलों का भी निर्माण कार्य कराया जायेगा, जिसमें दो पुल गंगा नदी पर एवं एक पुल यमुना नदी पर बनेगा। इसके साथ ही साथ 6 रेलवे ओवरब्रिज भी बनाया जायेगा।
मण्डलायुक्त ने भूमि अधिग्रहण के कार्य को शीघ्रता से पूर्ण कराये जाने तथा रेलवे, पीडब्लूडी एवं सम्बंधित विभागों से समन्वय स्थापित करते हुए सभी आवश्यक कार्यवाहियां समय से पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने यह भी कहा है कि इनर रिंग रोड़ के निर्माण कार्य में यदि कहीं भी किसी भी प्रकार की समस्या होती है, तो संज्ञान में लाते हुए उसका निराकरण कराना सुनिश्चित करायें। मण्डलायुक्त ने राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों को इनर रिंग रोड़ के प्रथम फेज के कार्य को महाकुम्भ-2025 को लक्ष्य में रखते हुए पूर्ण कराये जाने के लिए कहा है। कहा कि निर्माण कार्य की सभी कार्रवाई गुणवत्ता के साथ समय से सुनिश्चित करा ली जाये, जिससे निर्धारित समय सीमा में इनर रिंग रोड़ के निर्माण का कार्य पूर्ण हो सके। इस अवसर पर अपर आयुक्त, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण प्रयागराज के परियोजना निदेशक ए0के0 राय, पीडब्लूडी के अधिकारीगणों के अलावा अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *