ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

शासन प्रशासन व्यापारियों की सुने न्याय करे, बेवजह धमकी न दे- नंद कुमार गुप्ता

अयोध्या (वासुदेव यादव)। अयोध्या उद्योग व्यापार मंडल ट्रस्ट अध्यक्ष नन्द कुमार गुप्ता ने कहा है कि अयोध्या में प्रस्तावित फोरलेन चैड़ीकरण से विस्थापित हो रहे लगभग 800 दुकानदारो को बचाने के लिए अयोध्या उद्योग व्यापार मंडल ट्रस्ट लगातार एक साल से सैकड़ो पत्र शासन प्रशासन से लेकर मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री तक लिख रहा है। साथ ही स्थानीय माननीयो एवं अधिकारियों से मिलकर रोजी रोटी बचाने के लिए गोहार मचा रहा है। लेकिन कोई सुनवाई ना होते देख व्यापारी समाज उपवास, जल सत्याग्रह, सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ,हवन इत्यादि का कार्यक्रम किया। फिर भी सुनवाई ना होने से व्यापारी समाज मजबूरी में 1जुलाई को मौन यात्रा रामपैड़ी से निकालने का निर्णय लिया। उपरोक्त यात्रा के एक दिन पहले 30 जून एडीएम प्रशासन के साथ सीओ एलआईयू बी यम तिवारी एवं व्यापारी नेताओ के मध्य वार्ता हुई। यहां प्रशासन दबाव बनाकर मौन यात्रा स्थगित करने की बात पर जोर देता रहा और अंत में सीओ एलआईयू ने धमकी दे डाली कि यदि आपलोग बात नही मानोगे तो लखनऊ से सेल टैक्स की टीम बुलाकर सभी दुकानो पर छापा डलवाया जायेगा।

उसके 1 जुलाई के कार्यक्रम में भी दर्जनो व्यापारियों पर मुकदमा दर्ज कर दिया। उसके बाद 16 जुलाई को व्यापारियों के आह्वान पर 12 बजे से २ बजे तक साकेतिक बंदी के सन्दर्भ में प्रशासन ने वयापारीयो संग साकेंतिक बंदी को स्थगित करवाने के लिए बैठक बुलाई। इस बैठक मे फिर सीओ एलआईयू वीयम तिवारी ने आन्दोलन की बात पर दर्ज मुकदमे मे विवेचनाकर गिरफ्तारी तक बात कह डाली। विरोध करने पर उन्होंने कहा यदि साकेतिक बंदी होगी तो आपके खिलाफ मुकदमा लिखकर जेल भेज देगे। जबकि पंकज सरार्फ ने कहा बेहतर होता भविष्य की जरूरत को देखते अफीम कोठी से गैस गोदाम होते हुए बह्मकुडं से राजघाट तक सिक्सलेन बनाया जाय। जिससे यात्रियो की भीड़ को बाटा जा सके। साथ यह रास्ता जन्मभूमि मंदिर केवल नाम मात्र मीटर की दूरी पर है। प्रस्तावित नयाघाट से सहादतगंज अव्यवहारिक फोरलेन बीच बाजार में होने के कारण हजारो व्यापारियों की रोजी रोटी उजाड़ रही है ऐसे जनअहितकारी योजना को रद्द किया जाना चाहिए। युवा व्यापारी नेता शक्ति जायसवाल ने बताया जन्मभूमि दर्शन के सात मार्ग क्षीरेश्वर मंदिर के सामने सम्पर्क मार्ग,संतोषी अखाड़ा के बगल,सुग्रीव किला के सामने,बर्तमान दर्शन मार्ग, वेद मंदिर के सामने पुराना दर्शन मार्ग, मंदिर के पशिचम बह्मकुड गुरूद्वारा- दुराही कुआ की तरफ से एवं मंदिर के दक्षिण नया दर्शन मार्ग बनाकरध्चालू कर दिया जाना चाहिए।

जिससे हनुमानगढ़ी से जन्मभूमी तक चैड़ीकरण की जद मे आने वाले सैकड़ो व्यापारीयो की रोजी रोटी बच जायेगी। सरकार के योजनाओ में हम सभी सहयोगी है। लेकिन उपरोक्त दोनो अव्यवहारिक योजनाओ को सरकार को जनहित देखते हुए रद्द कर देनी चाहिए। बृज किशोर पाडेंय ने कहा शासनध्प्रशासन चंद लोगो के बजाय प्रभावित हो विभिन्न बाजारो के पैनल सीधी वार्ता होने से सकारात्मक परिणाम आने की उम्मीद ज्यादा है।  श्री पाडेय ने कहा विस्थापित करने की डीपीआर दिखाई पड़ रही है। लेकिन विस्थापितों को स्थापित करने की डीपीआर नही दिखाई पड़ने से व्यापारी समाज रोजी रोटी उजड़ने के डर से भयग्रस्त है। इस अवसर पर बृज किशोर पाडेंय, अवधेश मोदनवाल, मुन्नू तिवारी, शम्मी गुप्ता, अजय श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *