ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

ऑक्सीजन प्लांट पावर के अभाव ठप्प

बांदा। जनपद में नरैनी सीएचसी में 45 लाख रुपये की लागत से लगाया गया ऑक्सीजन प्लांट संबंधित अधिकारियों की लापरवाही और तकनीकी कमी से चालू नहीं हो पा रहा। यहां लगाए गए जनरेटर की क्षमता कम है। सीएचसी में 50 बेड का वार्ड है। कोरोना काल में ऑक्सीजन की मची हायतौबा के बाद यहां ऑक्सिजन प्लांट लगाया गया था। विधायक राजकरन कबीर द्वारा विधायक निधि से दिए गए 10 लाख रुपये में जनरेटर खरीदा गया था वह कम क्षमता वाला है। नतीजा ये रहा कि प्लांट चालू नहीं हो सका।
चिकित्साधीक्षक डॉ. अजय प्रताप विश्वकर्मा का कहना है कि प्लांट के लिए 120 केवी क्षमता का जनरेटर होना चाहिए। हालांकि चलने के बाद इसमें 80 केवी का ही लोड पड़ेगा। जबकि नवनिर्मित प्लांट में लगाया गया जनरेटर मात्र 64.5 केवी का है। यह टेस्टिंग में ही फेल हो गया। बताया कि बिजली विभाग से 100 केवी का ट्रांसफार्मर लेकर प्लांट की टेस्टिंग की गई है। उधर, प्लांट निर्माण कराने वाली कार्यदाई संस्था साइन नान कंर्वेशनर एनर्जी कंपनी के इंजीनियर सिवप्पा का कहना है कि जनरेटर की खरीदारी उनसे सलाह लेकर नहीं की गई। प्लांट को 100 केवी क्षमता का जेनरेटर चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *