October 6, 2022

बीडीओ और सचिव के खिलाफ प्रधान हुए लामबंद, कमिश्नर के यहां दिया ज्ञापन

मिर्जापुर। जनपद में राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रधान के प्रदेश सचिव अखिलेश्वर पांडे व राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रधान उत्तर प्रदेश के प्रदेश उपाध्यक्ष जेपी दुबे के नेतृत्व में बीते शुक्रवार के दिन पटेहरा ब्लॉक के दर्जन भर से ज्यादा ग्राम प्रधानों ने दो सचिव और बीडीओ को तत्काल स्थानांतरण की मांग करते हुए प्रधानों के द्वारा आरोप लगाया गया कि बीडीओ और सचिव के द्वारा अनुचित दबाव बनाए जा रहे हैं।
बताते चलें कि सिटी ब्लॉक के बीडीओ के घेराव का मामला अभी विचाराधीन ही था कि कोन ब्लॉक के मामले ने उससे भी बड़ा सवाल जनपद में छोड़ दिया है। भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रधानों का एकजुट हो जाना ऐतिहासिक घटना जानकार मानने लगे हैं।
सूत्रों की माने तो राजनीति से इतर लेन-देन के प्रकरण पर टकराव अब खुलकर सामने आने लगा है। जिसका परिणाम पटेहरा ब्लॉक में उपजे बवाल को देखकर आसानी से समझा जा सकता है। पटेहरा ब्लॉक में ग्राम प्रधानों और उनके पदाधिकारियों की मांग है कि ब्लॉक स्तर से और सचिव के स्तर से कार्य में बाधा पहुंचाया जा रहा है। काफी अरसे से जिले में टिके होने के कारण सरकारी कार्य भी बुरी तरीके से प्रभावित हो रहा है। जिसके चलते क्षेत्र का विकास बाधित हो रहा है। बताते चलें कि सिटी ब्लॉक में दर्जनों की संख्या में महिला मेठ ने सिटी बीडीओ का घेराव कर तनखाह न दिए जाने का आरोप लगाया था। उसके बाद कोन ब्लॉक के बीडीसी और ग्राम प्रधानों का एक प्रतिनिधिमंडल एमएलसी विनीत सिंह से मिलकर कोन के बीडीओ के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। विनीत सिंह ने ग्राम प्रधानों के द्वारा दिए गए शिकायती पत्र को गंभीरता से लेते हुए तत्काल जिलाधिकारी से भी वार्ता की थी सभी की निगाहें इस बात पर है कि पटेहरा ब्लॉक के बीडीओ और सचिव के अलावा और क्या कार्रवाई हुई सभी की निगाहें इस पर टिकी हुई हैं।