ब्रेकिंग न्यूज़ ------>

ट्रक की टक्कर से मोटरसाइकिल सवार एक की दर्दनाक मौत

सुमेरपुर। राष्ट्रीय राज मार्ग 34 में कस्बा सुमेरपुर के अन्दर नेहा नर्सिंग होम के पास एक ट्रक की टक्कर से बाइक सवार दो सगे भाइयो में बडे भाई की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई जबकि छोटा भाई बाल बाल बच गया। इस हादसे की खबर पाते ही युवक के परिवार में हडकंप मच गया। सूचना पाते ही पुलिस मौके पर पहुंची पुलिस ने ट्रक और चालक को हिरासत में लेकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। गुरुवार की दोपहर को सुभाष बाजार हमीरपुर निवासी जितेन्द्र चैरसिया व आनंद चैरसिया पुत्रगण राजेश चैरसिया भरुआ सुमेरपुर से मोटरसाइकिल लेकर हमीरपुर की तरफ जा रहे थे तभी सुमेरपुर के नेहा नर्सिंग होम के पास यू0पी0 31 ए0टी0 9090 नंबर के ट्रक ने मोटरसाइकिल में टक्कर मार दी जिससे जितेन्द्र चैरसिया की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई जबकि आनंद चैरसिया बाल बाल बच गया । इस घटना को देख मौके पर लोगों की भीड जमा हो गई। सूचना पाते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक युवक के परिजनों को इस घटना की जानकारी दी।
जानकारी पाते ही परिजन मौके पर पहुंच गए और युवक के शव को देख दहाडे मार मार कर रोने लगे। इसी बीच मौके का फायदा उठाकर भाग रहे ट्रक चालक को लोगों ने ट्रक सहित पकड लिया। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक जितेंद्र और आनंद चैरसिया इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक थे। दोनो भाई कैमरे आदि लगाने का काम करते थे। गुरुवार की सुबह वह अपने घर से सुमेरपुर की फैक्ट्री ऐरिया में कैमरा लगाने आए थे। कैमरा लगाकर वह हमीरपुर जा रहे थे तभी यह हादसा हो गया। गौरतलब है कि कानपुर सागर राष्ट्रीय राजमार्ग खूनी हाइवे के नाम से मशहूर है। जब से यह हाइवे बना तब से यह हाइवे न जाने कितने लोगों की जान ले चुका है। इस हाइवे में डिवाइडर न होने की वजह से आए दिन सडक हादसे होते हैं। यहां के लोग इस हाइवे में डिवाइडर बनवाए जाने की मांग कर चुके हैं लेकिन डिवाइडर नही बनवाया गया है। यही वजह है कि हाइवे में सडक दुर्घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं,फिर भी किसी राजनैतिक दल को कोई लेना नही है। इस गम्भीर समस्या के प्रति कोई संवेदनशील नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *